जासं, भदोही : इंदिरा मिल ओवरब्रिज के नीचे मंगलवार की रात चालक और खलासी को अज्ञात बदमाशों ने गोली मार दी थी। गोलीकांड घटना के 48 घंटे के बाद भी पुलिस के हाथ बदमाशों का सुराग नहीं लग पाया। एसपी रामबदन सिंह ने टीम गठित कर मामले का अनावरण करने को कहा है। पुलिस 15 से 20 संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। घायल चालक को भी वाराणसी के लिए रेफर कर दिया।

पानीपत से कच्चा धागा लेकर भदोही आए मोहम्मदाबाद जनपद फर्रुखाबाद निवासी ट्रक चालक नन्हे लाल कठेरिया व खलासी विशाल को उस समय अज्ञात कार चालकों ने गोली मार दी थी जब वह ट्रक में सो रहे थे। पुलिस अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर छानबीन कर रही है। इस मामले में कोतवाली क्षेत्र के अलग-अलग गांवों से संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

--------------------

ट्रक मालिक तो नहीं था बदमाशों के निशाने पर

चालक व खलासी को गोली क्यों मारी गई यह पहेली अब तक सुलझ नहीं सकी है जबकि ट्रक मालिक अजय की मानें तो वह स्वयं ट्रक लेकर पानीपत से भदोही आया था। उसके अनुसार दोनों घायल खलासी हैं। वह देर रात बस पकड़कर एटा चला गया था। उसी बीच यह घटना हुई। आशंका जताई जा रही है कि हमलावरों की ट्रक मालिक से दुश्मनी हो सकती है। हमलावर उसी को निशाना बनाने के लिए आए थे लेकिन गलती से चालक व खलासी को गोली मार दी गई। बहरहाल पुलिस भी इससे इंकार नहीं कर रही है। प्रभारी कोतवाल सीके पुरी का कहना है कि सभी बिदुओं पर जांच की जा रही है। कहा कि जल्द ही मामले का अनावरण कर लिया जाएगा।

Edited By: Jagran