जासं, भदोही : डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी महाविद्यालय में रविवार को पुरातन छात्र समागम कार्यक्रम का आयोजन किया गया। महाविद्यालय के वर्तमान व पूर्व छात्रों ने एक दूसरे अपने अनुभव बांटे। लगे हाथ पुरातन छात्रों ने आगामी परीक्षा के लिए जूनियर साथियों को आवश्यक तैयारी करने का मंत्र बताया।

प्रकोष्ठ के वरिष्ठ सदस्य एवं कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डा. गौतम गुप्ता ने कहा कि यह एक सभा है जिसमें हम एकत्रित होकर अपने अनुभव एक दूसरे से बांटते हैं जो भविष्य में हमारे काम आता है। कहा कि वरिष्ठ छात्रों से जूनियर छात्रों को सीख मिलती है। कहा कि प्राध्यापक भी आपसे फीड बैक लेकर शिक्षण और शिक्षणेत्तर गतिविधियों में अपेक्षित सुधार कर सकते हैं। कार्यक्रम के संयोजक डॉ बृजेश ¨सह ने समागम का उद्देश्य स्पष्ट करते कहा कि प्राय स्नातक के बाद छात्र उच्च शिक्षा व कैरियर के चुनाव में संशय की स्थिति बनी रहती है। उक्त झिझक दूर करने के लिए एक दूसरे से सलाह मशविरा करना लाभदायक साबित होता है। कहा कि समागम आपको गुरुजनों से पुन: जोड़ने और जीवन में लक्ष्य निर्धारण करने में सहायक साबित होता है। इस दौरान पुरातन छात्रों ने अपने अनुभव साझा किए तथा जूनियर्स को आगामी परीक्षा के लिए तैयारियां करने का आह्वान किया। लगे हाथ आवश्यक मंत्र भी दिए। इस मौके पर डा.माया यादव, डा. वर्षा रानी, डा. अवधेश, डा. भावना ¨सह आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस