जासं, भदोही : नगरी क्षेत्रों फैली नाली बारिश में जाम न हो जाए इसलिए मानसून की आहट मिलने के पहले ही सिल्ट की सफाई हो जाती। भदोही नगर पालिका परिषद क्षेत्र में फैली 11.50 किमी के सापेक्ष महज आठ किमी तक ही सिल्ट सफाई का दावा किया जा रहा है। हकीकत यह है कि पानी में करोड़ों रुपये बहा दिए गए लेकिन हल्की बारिश होने पर पूरा नगर डूब जाता है। नाले जहां कूड़े करकट से पटे पड़े हैं तो नालियां जाम हैं।

भदोही नगर में हल्की बारिश होने पर शहर के प्रमुख मार्गों से लेकर गली मोहल्लों तक जलप्लावन की हालत हो जाती है। जलजमाव की गंभीर समस्या से अवगत होने के बाद भी नगर प्रशासन निकासी प्रबंध को लेकर उदासीन बना है। पालिका प्रशासन की ओर से नाले व नालियों की सफाई कराने का भले ही दावा किया जा रहा है लेकिन वास्तविकता के धरातल पर स्थिति भिन्न है। शहर के समस्त जलनिकासी स्त्रोत बंद है। साफ- सफाई के नाम पर महज औपचारिकता का निर्वहन किया जा रहा है। हल्की बारिश के दौरान शहर के मोहल्लों में जलजमाव की स्थिति को देखते हुए इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। उधर बारिश से पहले नालों व नालियों की सफाई कराने की पहल तक नहीं की गई है।

----------------

बारिश के दिनों में झील बन जाता है शहर

कालीन नगरी की जलनिकासी समस्या प्राचीन है। बारिश के दिनों में शहर झील में तब्दील हो जाता है। सर्वाधिक समस्या स्टेशन रोड पर उत्पन्न हो जाती है। मुल्ला तालाब से शिव टाकीज तक 500 मीटर की सड़क तालाब में बदल जाती है। इसके अलावा पीरखानपुर, मशाल रोड, गजिया सहित मुख्य मार्ग पर भारी जल जमाव हो जाता है। उधर शहर के निचले मोहल्लों की स्थिति दयनीय हो जाती है। कजियाना से कटरा बाजार, दरोपुर, काशीपुर, सहाबाबाद, घमहापुर जैसे मुहल्लों का शहर से संपर्क समाप्त हो जाता है।

--------------------

अंडरग्राउंड नालियां समस्या का कारण

शहर में अंडरग्राउंड नालियों का जब से निर्माण कराया गया तब से जलनिकासी की समस्या में वृद्धि हुई है। अंडरग्राउंड नालियों की सफाई न होने के कारण तमाम कूड़े करकट व ठोस अपशिष्ट फंस जाते हैं जो निकासी बाधित करने में सहायक साबित होते हैं। जिन वार्डों में अंडरग्राउंड नालियों का जाल बिछाया गया वहां जलनिकासी समस्या अधिक है। कुछ वार्डों में नालियां ही नहीं हैं। कुल मिलाकर समस्या दोनों तरफ एक जैसी है।

------------------------

बारिश के मद्देनजर जेसीबी के माध्यम से नालों की सफाई कराई जा रही है। अब तक आठ किमी तक नाले साफ किए जा चुके हैं। शेष 3.50 किमी की जल्द ही सफाई करा ली जाएगी। जलनिकासी समस्या के समाधान के लिए पालिका गंभीर है।

चित्र-11---- जी लाल, अधिशासी अधिकारी , नगर पालिका परिषद, भदोही

Edited By: Jagran