जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : अयोध्या मसले में फैसला आने के पहले पुलिस उप महानिरीक्षक विध्याचल मंडल एवं जनपद के नोडल अधिकारी पियूष श्रीवास्तव ने दो दिनों तक जनपद में भ्रमण कर हर वर्ग के लोगों से मिलकर जहां मन टटोला तो वहीं प्रशासनिक सतर्कता की हकीकत भी देखी। अंतिम दिन अलग- अलग समुदायों से मिलकर माहौल की पड़ताल की। साथ ही सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की चेतावनी भी दी। कहा कि सोशल मीडिया पर स्थानीय के अलावा प्रदेश मुख्यालय से नजर रखी जा रही है।

पुलिस लाइन में बुधवार को अलग- अलग वर्गों के अलावा सामाजिक व सभ्रांत नागरिकों एवं माननीयों के साथ सीधा संवाद किया। अयोध्या मसले पर सुप्रीम कोर्ट से अगले माह आने वाले निर्णय को लेकर अलग-अलग वर्ग के लोगों से बात कर इनपुट लिया। इसके पश्चात पुलिस लाइन और जिला जेल का निरीक्षण किया। इस दौरान साफ-सफाई को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिया। बताया कि भदोही में दोनों समुदाय के बीच बहुत ही मधुर संबंध है। किसी भी स्थिति में दोनो वर्ग के लोग आपस में मिलजुलकर रहते हैं। उन्होंने बताया कि दो दिनों तक जिले में भ्रमण कर लोगों से मिलकर जमीनी हकीकत की जानकारी ली गई। जहां पर शिकायत मिले उन्हें ठीक करने के लिए कहा गया है। डीआइजी ने बताया कि जिलाधिकारी और अन्य विभाग के अधिकारियों के साथ भी बैठक कर स्थिति की जानकारी ली गई। कहीं ऐसा तो नहीं कि पुलिस और अन्य विभाग के लोगों के बीच आपसी सामजंस्य न होने से कार्य बाधित हो रहा है। बातचीत में इसी तरह का कोई मामला नहीं आया। विधायक विजय मिश्र ने कहा कि जिले में कभी भी सांप्रदायिक तनाव की स्थिति उत्पन्न नहीं हुई है। सभी वर्ग के लोग आपसी भाईचारे के साथ रहते हैं। इस मौके पर जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद, पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह आदि थे।

-

कैश वैन और सराफा व्यवसायी लूट कांड चुनौती

-पुलिस उप महानिरीक्षक विध्याचल मंडल पियूष श्रीवास्तव ने बताया कि कैश वैन और सराफा व्यवसायी लूट कांड पुलिस अधीक्षक के लिए चुनौती है। दोनों लूट कांड खुलासा के लिए स्थानीय के अलावा मीरजापुर और एसओजी टीम को लगाया गया है। बताया कि लूट की घटनाएं तो पूरे प्रदेश में हो रही हैं। घटनाएं होती रहती हैं और उसका खुलासा भी होता रहता है। शीघ्र ही खुलासा कर लुटरों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

-

पुलिस लाइन और जेल का किया निरीक्षण

-जनपद के नोडल एवं डीआइजी विध्याचल मंडल पियूष श्रीवास्तव, जिलाधिकारी राजेंद्र प्रसाद और पुलिस अधीक्षक रामबदन सिंह ने जिला जेल का निरीक्षण किया। इस दौरान बंदियों से सीधा संवाद कर स्थिति की जानकारी ली। परिसर के अंदर साफ-सफाई का निर्देश दिया। इसके पहले डीआइजी पुलिस लाइन और पुलिस आवासीय परिसर की हकीकत देखी। छत पर जमी गंदगी को देख संबंधित पुलिस कर्मियों को चेतावनी भी दी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप