जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि से जनपद के 1.72 लाख किसानों में 199.58 करोड़ वितरित किया जा चुका है। पंजीकृत किसानों के खाते में चौथी किस्त भी भेजी जा चुकी है। 18 हजार किसानों के खाते में नेम मिस मैच होने के कारण धनराशि नहीं भेजी जा चुकी है।

कर्ज के बोझ से दबे और आत्महत्या कर रहे किसानों को राहत देने के लिए केंद्रीय बजट में किसानों को छह हजार वार्षिक देने की व्यवस्था की गई है। यह धनराशि किसानों को तीन किस्तों में दी जाएगी। पहली किस्त दिसंबर 2018 से शुरू करने का निर्देश दिया गया था। कृषि गणना के अनुसार 1.87 लाख किसान पंजीकृत थे लेकिन इस समय वरासत आदि होने के कारण इसकी संख्या बढ़कर 1.99 लाख पर पहुंच गई है। योजना शुरू होने से अब तक 199.58 करोड़ रुपये किसानों के खाते में भेजा जा चुका है। गाइड लाइन के अनुसार चौथी किश्त भी किसानों के खाते में भेजी जा चुकी है। उप निदेशक कृषि अरविद कुमार सिंह ने बताया कि 1.72 लाख किसानों को किसान सम्मान निधि का लाभ मिल रहा है। मंडल में भदोही जनपद की स्थिति बहुत ही शानदार है।

-

18 हजार किसानों को झटका

तहसील कर्मियों की लापरवाही के चलते 18 हजार लाभार्थियों किसान सम्मान निधि का लाभ नहीं मिल पाया। पब्लिक फंड मैनेजमेंट सिस्टम से पकड़ में आने पर उनके नाम और खाता को संशोधित किया जा रहा है। उप कृषि निदेशक अरविद कुमार सिंह ने बताया कि निधि में किसी भी प्रकार की गड़बड़ी को रोकने के लिए सिस्टम लागू किया गया है। बताया कि नाम मिस मैच होने के कारण 60 हजार किसानों का निधि रुक गया था लेकिन सभी किसानों ने उसे संशोधित करा दिया है। अभी भी 18 हजार किसान हैं जिनका नाम मिस मैच है। उसे दुरुस्त कराने की प्रकिया चल रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस