जासं, अनपरा (सोनभद्र) : रेल मंत्रालय ने बिल्ली जंक्शन से चोपन-चुनार 108 किमी. रेल खण्ड दोहरीकरण को स्वीकृति प्रदान कर दी है। इस रेलखंड के फाइनल लोकेशन सर्वे व डीपीआर के लिए 13 करोड़ 50 लाख की धनराशि स्वीकृत कर दिया है।

क्षेत्रीय रेल उपयोगकर्ता परामर्शदात्री समिति उत्तर मध्य रेलवे इलाहाबाद के सदस्य एसके गौतम ने जानकारी देते हुए बताया कि इस रेल खंड दोहरीकरण का प्रयास काफी लंबे समय से किया जा रहा था। उन्होंने जेडआरयूसीसी व सांसद बैठक में प्रतिनिधि के रूप में भाग लेकर चेयरमैन रेलवे बोर्ड विनोद कुमार यादव व सदस्य, इंजीनियरिग रेलवे बोर्ड विश्वेश चौबे से मिलकर यह मांग रखी थी।

राज्यसभा सांसद रामसकल व लोकसभा सांसद पकौड़ी लाल कोल के माध्यम से रेल मंत्री पीयूष गोयल से मिलकर दोहरीकरण के लिए मांग की थी। इस रेलखण्ड के दोहरीकरण से उर्जांचल के सिगरौली व शक्तिनगर रेलवे स्टेशन दोहरी रेल लाइन से वाया चोपन, धनबाद, हावड़ा तक तथा वाया चुनार, नई दिल्ली तक सेवा जुड़ जाएंगे। नई रेलगाड़ियों के संचालन से कोयला व अन्य माल ढुलाई आसान हो जाएगी। बताया कि इस रेलखंड का विद्युतीकरण कार्य अथक प्रयास से पूरा हो गया है। मालगाड़ी व सवारी गाड़ी चलाकर ट्रायल कर लिया गया है। चोपन-सिगरौली रेलखण्ड पर करैला रोड स्टेशन से सिगरौली-महदईया स्टेशन तक शेष बचे विद्युतीकरण कार्य को 30 जनवरी तक पूरा किए जाने का आश्वासन सदस्य रेलवे बोर्ड राजेश तिवारी ने छह जनवरी को रेल भवन दिल्ली में हुई बैठक में दिया था। रेलवे बोर्ड ईडी को इसकी निरंतर निगरानी करने का भी निर्देशित दिया गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस