जागरण संवाददाता, भदोही : कजियाना-कटरा मार्ग पर जलजमाव से आवागमन में परेशानी, शीर्षक से दैनिक जागरण द्वारा मंगलवार के अंक में प्रमुखता से प्रकाशित समाचार का प्रभाव सुबह ही देखने को मिला। ईओ जी. लाल ने समस्या का संज्ञान लेते हुए सफाई टीम को मौके पर भेजा। मशीन द्वारा चार घंटे की मेहनत के बाद भारी भरकम मलबा निकाला गया। तब कहीं जाकर निकासी सुचारू हो सकी। चिता की बात तो यह है कि लाख कवायद के बाद भी चेंबर के माध्यम से सीवर में ठोस अपशिष्ट डालने से लोग बाज नहीं आ रहे हैं। इसे लेकर ईओ ने नाराजगी जताते हुए निकासी बाधित करने वालों को चेतावनी दी। कुछ चेंबरों में जाली भी लगवा दी गई। कहा इसके बाद किसी ने ठोस अपशिष्ट डाला तो उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

तीन दशक पहले बिछाई गई सीवर लाइन जगह जगह से ध्वस्त हो चुकी है। कूड़ा करकट व ईंट पत्थर से पटने के कारण आए दिन जाम हो जाती है। इस बीच चेंबर से पानी ओवरफ्लो होकर सड़क पर बहने लगता है। पालिका के कर्मचारी साफ सफाई करते हैं लेकिन दूसरे दिन फिर से समस्या खड़ी हो जाती है। इसके लिए स्थानीय निवासी भी जिम्मेदार हैं। कुछ लोग चेंबर में ठोस अपशिष्ट डालकर निकासी अवरुद्ध कर देते हैं। लाइन जाम होने के कारण पिछले कई दिनों से जगह जगह चेंबर ओवरफ्लो कर रहा था। तीन दिन तक सड़क पर जलजमाव रहा। इससे लोगों को आवागमन में भारी असुविधा का सामना करना पड़ रहा था। बहरहाल पालिका की सफाई टीम ने अथक परिश्रम कर सीवर लाइन साफ कर निकासी सुचारू कर दी है। साथ ही लोगों को चेतावनी भी गई है।

Edited By: Jagran