जागरण संवाददाता, भदोही : जर्मनी के हनोवर में संपन्न चार दिवसीय कालीन मेला (डोमोटेक्स) से वापसी कर रहे कालीन निर्यातक व सीईपीसी पदाधिकारियों को अब इंतजार है कब सजेगा भदोही में बाजार। लोगों की नजर भदोही में बनकर तैयार मेगा मार्ट में मेला आयोजन पर टिकी हैं। वायदे के मुताबित 20 जनवरी तक मार्ट सीईपीसी को हैंडओवर किया जाना है। जबकि सीईपीसी पदाधिकारियों का कहना है कि मार्ट हाथ में आने के बाद मेला आयोजन को लेकर रणनीति बनेगी। फिलहाल मार्च में दिल्ली में आयोजित होने वाले इंडिया कारपेट एक्सपो-20 पर पूरा ध्यान केंद्रित किया जा रहा है।

लखनऊ स्थित निर्यात प्रोत्साहन भवन में पिछले दिनों भदोही इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथार्टी (बीडा) अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक के दौरान सूक्ष्म लघु व मध्यम उद्यम विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. नवनीत सहगल ने इसी माह के अंत तक मार्ट हैंडओवर करने व फरवरी में बड़े पैमाने पर मेले का आयोजन कराने का निर्देश दिया था। हालांकि फरवरी में तो मेले का आयोजन करना किसी हाल में संभव नहीं है लेकिन शासन की गंभीरता को देखते हुए मई-जून माह तक मेला आयोजित किया जा सकता है। कालीन निर्यात संवर्धन परिषद (सीईपीसी) ने भी इसके संकेत दिए हैं। हालांकि वे अभी इस पर अंतिम निर्णय तब लेंगे जब मार्ट उनके हाथ में आ जाएगा।

-----------------

तैयारी में लगता है वक्त

कालीन निर्यात संवर्धन परिषद (सीईपीसी) के प्रशासनिक समिति के वरिष्ठ सदस्य उमेश कुमार गुप्ता मुन्ना का कहना है कि फिलहाल तो परिषद के पदाधिकारी, सदस्य व परिक्षेत्र के निर्यातक जर्मनी से अभी वापसी कर रहे हैं। डोमोटेक्स के बाद मार्च में दिल्ली में आयोजित होने वाले इंडिया कारपेट एक्सपो की तैयारी में जुट जाएंगे। मेला के आयोजन की तैयारी में तीन से चार माह का वक्त लगता है। ऐसे में भदोही मेला आयोजन के संबंध में इंडिया कारपेट एक्सपो के बाद ही अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस