जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के 772 आवास दो साल में भी पूर्ण नहीं हो सके। नाराज मुख्य विकास अधिकारी भानु प्रताप सिंह ने लापरवाह खंड विकास अधिकारियों की जमकर क्लास लगाई। चेतावनी दी समय से ये पूर्ण नहीं हुए तो सख्त कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्ट्रेट सभागार में मंगलवार को पीएम आवास की समीक्षा बैठक हुई। परियोजना अधिकारी मनोज कुमार राय ने बताया वित्तीय वर्ष 2020-21 में स्वीकृत पीएम आवास 6386 के सापेक्ष 6176 ही पूर्ण हो सके हैं। जबकि 210 आवास अपूर्ण हैं। इसी तरह वित्तीय वर्ष 2021-22 में 7169 के सापेक्ष 6607 आवास पूर्ण हो गए हैं। इस वित्तीय वर्ष में 562 आवास अपूर्ण हैं। सीडीओ ने इसके लिए बीडीओ को जिम्मेदार बताया और कहा कि वे स्वयं मौके पर जाएं और निर्माण कार्य पूर्ण कराएं। कहा आवास से संबंधित भूमि विवाद है तो संबंधित उप जिलाधिकारी से संपर्क कर मौके पर जाकर निस्तारित कराएं। इसमें किसी भी स्तर लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। बैठक में खंड विकास अधिकारी श्याम जी, डीसी मनरेगा राजाराम,सूर्य नारायण पांडेय, राकेश मिश्रा आदि थे। इसी तरह जिला स्वच्छता समिति की बैठक में शौचालयों की स्थिति की समीक्षा की गई। सामुदायिक शौचालयों का शत प्रतिशत संचालन कराने की हिदायत दी है। डीपीआरओ बालेशधर द्विवेदी, जिला समाज कल्याण अधिकारी महेंद्र यादव आदि थे।

Edited By: Jagran