बस्ती: सरकार के लाख प्रयास के बावजूद भी ग्राम पंचायतों में शौचालय निर्माण का कार्य तेजी नहीं पकड़ पा रहा है। ग्राम पंचायतों के खाते में धन डंप पड़ा हैं फिर भी निर्माण कार्य नहीं हो रहे है।

खुले में शौच मुक्त घोषित कुदरहा ब्लाक के 64 फीसद ग्राम पंचायतों में शौचालय का निर्माण अभी पूरा नहीं हो पाया है। शौचालय लक्ष्य न पूरा होने से ओडीएफ घोषित करने के अफसरों के निर्णय पर सवाल खड़े हो रहे हैं। ब्लाक के 78 ग्राम पंचायतों में से महज 28 ग्राम पंचायत में ही शौचालय का निर्माण कार्य पूर्ण है। शेष 50 ग्राम पंचायतों में अभी भी निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है। शौचालय निर्माण में ब्लाक की दैजी ग्राम पंचायत सबसे पीछे है। यहां अभी तक 50 फीसद ही शौचालय का निर्माण हो पाया है। एक हजार से अधिक आबादी वाले इस ग्राम पंचायत में मात्र 51 लोगों का नाम बेसलाइन सूची में है। जिसमें केवल 26 का ही निर्माण हुआ है। यह आंकडा विभाग के ही अभिलेखों का है। वहीं डेल्हवा ग्राम पंचायत में 196 के सापेक्ष 121 शौचालय ही बन पाए हैं। शेष शौचालय का निर्माण अभी नहीं हो सका है। बारीघाट ग्राम पंचायत का भी हाल कुछ ऐसा ही है। यहां भी 299 के सापेक्ष 227 शौचालय ही अब तक बने है। कुछ ऐसा ही हाल ब्लाक के अधिकांश ग्राम पंचायतों का है।

.........

जिन ग्राम पंचायतों में शौचालय निर्माण का कार्य अधूरा है उनके सचिवों को निर्देश दिया गया है कि निर्माण कार्य को अविलंब पूरी कराएं, अन्यथा उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

धन प्रकाश शुक्ला, एडीओ पंचायत, कुदरहा, बस्ती।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस