जागरण संवाददाता हर्रैया, बस्ती : स्वास्थ्य विभाग में हाल ही में 12 प्रभारी चिकित्साधिकारियों का स्थानांतरण कर दिया गया था। वहीं शासन ने मंगलवार को इन सभी अधीक्षकों का स्थानांतरण निरस्त कर दिया है। चिकित्साधिकारियों के स्थानांतरण निरस्तीकरण के खिलाफ बुधवार को समाजसेवी चंद्र मणि पांडेय सुदामा ने मोर्चा खोल दिया है।

10 अक्टूबर को सीएचसी कप्तानगंज में अधीक्षक डा. विनोद कुमार व भाजपा नेता विनीत तिवारी के बीच हुए विवाद के बाद विभाग ने एक साथ 12 प्रभारी चिकित्सा अधीक्षकों का स्थानांतरण कर दिया था। एक पखवारे के बाद शासन ने सीएमओ द्वारा किए गए स्थानांतरण को निरस्त कर दिया। समाजसेवी चंद्रमणि पांडेय ने ज्वाइंट मजिस्ट्रेट नंद किशोर कलाल को मांग पत्र सौंपकर कहा कि पूर्व में किए गए आदेश को वापस न लागू करने की दशा में मुख्यमंत्री आवास पर अनशन शुरू करेंगे। उन्होंने पत्र में एक ही अस्पताल पर लंबे समय से जमे अधीक्षकों मनमानी व भ्रष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगाया गया है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस