बस्ती: सर्वोच्च न्यायालय की ओर से राममंदिर को लेकर शनिवार को आने वाले फैसले और उसके बाद उत्पन्न स्थितियों को देखते हुए अधिकांश दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद रखी। पटरी पर दुकानें नहीं लगी। दिन भर सड़क पर सन्नाटा पसरा रहा। लोग सड़क पर निकलने की बजाय अपने घरों में ही रहे।

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद की स्थिति को लेकर आशंकित लोग सड़क पर कम निकले। रोजाना 10 बजे तक जहां शहर में जगह जगह जाम की स्थिति बन जाती थी वहीं शनिवार को सड़क पर नाम मात्र की गाड़ियां और लोग देखने को मिले। सुबह इक्का दुक्का दुकाने खुलीं मिलीं। फैसला आने के बाद दुकानों के आस पास लोग मौजूद नजर आए, मगर दुकान खोलने से वह बचते रहे। दिन में दो बजे तक गांधीनगर से लेकर पुरानी बस्ती तक 50 फीसद दुकानें बंद नजर आई। हालांकि शाम पांच बजे तक अधिकांश दुकानें खुल गई, मगर बाजार में लोग कम ही निकले। माह का द्वितीय शनिवार होने और स्कूल कालेजों के बंद होने के कारण लोग घरों में ही रहे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस