बस्ती : कई वर्षों से बिजली बिल न जमा करने पर बीएसएनएल कार्यालय पर 41 लाख का बकाया हो गया है। विद्युत विभाग ने इस धनराशि की रिकवरी के लिए आरसी जारी कर दी है। डीएम आशुतोष निरंजन लंबा बकाया देख सख्त हो गए। उन्होंने वसूली के निर्देश दिए। नायब तहसीलदार सदर सुशील कुमार के नेतृत्व में गुरुवार को राजस्व टीम बीएसएनएल कार्यालय पहुंची। वसूली के लिए घंटों माथापच्ची हुई।

राजस्व टीम बीएसएनएल कार्यालय को सील किए जाने की कार्रवाई पर उतर आई। इस दौरान महाप्रबंधक विद्यानंद खुद टीम के सामने आए। कहा, बिजली बिल बकाया के प्रकरण से उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। विभाग को कम से कम दस दिन की मोहलत दी जाए। बिजली विभाग का बकाया चुकता किया जाएगा। उन्होंने दलील दी कि कार्यालय सील किए जाने से पूरे मंडल की दूरभाष सेवाएं ठप हो जाएंगी। घंटों चली वार्ता के बाद महाप्रबंधक ने टीम को लिखित आश्वासन भी दिया। तब जाकर टीम वापस लौटी। नायब तहसीलदार ने बताया कि बीएसएनएल को दस दिन का समय दिया गया है। यदि बिजली विभाग से संपर्क कर भुगतान कर दिया जाएगा तो आरसी वापस हो जाएगी। वरना इसके बाद कार्रवाई होगी। टीम में संतोष शुक्ल, रामनरायन मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप