जासं. बस्ती: सनातन धर्म संस्था की ओर से आयोजित होने वाले रामलीला महोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। 17 अक्टूबर से आयोजित होने वाली रामलीला इस बार जीआइसी परिसर में पूरी भव्यता के साथ होगी। गुरुवार को कार्यक्रम स्थल पर गणेशपूजन के साथ ही रामलीला के लिए मंच और टेंट का निर्माण शुरू हो गया।

आयोजन समिति के सदस्य पंकज त्रिपाठी ने बताया कि रामलीला प्रांगण को सनातन धर्म के अनुरूप तोरणद्वार से सजाया जाएगा। गुरुवार की रात में ही भगवा ध्वजों से शहर को सजाया जायेगा।

बृजेश सिंह मुन्ना ने कहा कि रामलीला मंचन देखने आने वाले दर्शकों को निश्शुल्क मास्क और सैनिटाइजर दिए जाएंगे। परिवार के साथ बैठने के लिए उपयुक्त व्यवस्था के साथ ही मच्छरों से निजात के लिए समय समय पर फागिग, स्वच्छ जल, महिलाओं और पुरुषों के लिए शौचालय व पार्किंग की समुचित व्यवस्था की गई है। 17 को नारद मोह से शुरू होने वाली रामलीला 26 अक्टूबर को भगवान श्रीराम के राज्याभिषेक के साथ पूर्ण होगी। श्री धनुषधारी रामलीला मण्डल अयोध्या धाम के कलाकारों द्वारा यह आयोजन किया जायेगा।

उद्यमी अखिलेश दूबे ने बताया कि 17 अक्टूबर को विघ्नहर्ता भगवान गणेश व भूमि पूजन के साथ श्री रामलीला महोत्सव का भव्य शुभारंभ होगा। कार्यक्रम की तैयारी दो महीने से चल रही है। इंटरनेट मीडिया से लेकर वाहनों से रामलीला मंचन के बारे में प्रचार प्रसार किया जा रहा है। इसके अलावा समिति के लोग टोली बनाकर गली-गली,हर दरवाजे पर श्री रामलीला महोत्सव का आमंत्रण लेकर पहुंच रहे हैं। इस आयोजन का लोगों को काफी इंतजार रहता है।

Edited By: Jagran