बस्ती : दीपावली में दलालों की सक्रियता से रेलवे की यात्रा कठिन हो गई है। आरक्षण टिकट के लिए यात्रियों में मारामारी है। डाउन ट्रेनों में भीड़ बढ़ने से यात्री खड़े होकर यात्रा करने को विवश हैं। सर्वाधिक समस्या दिल्ली, मुंबई से आने वाली ट्रेनों में है, जो नो-रूम की स्थिति में हैं।

दीपावली त्योहार नौ दिन शेष है। घरों में चहल-पहल बढ़ने के साथ ही बाहर से लोग घरों को लौटने लगे हैं। इनकी यात्रा में ट्रेन में जगह न मिलना सबसे बड़ी बाधा है। टिकट कंफर्म न होने से लोग परेशान हैं। यही हाल अहमदाबाद से आने वाले यात्रियों का है। उन्हें टिकट नहीं मिल रहा है। यात्री आशीष को कंफर्म टिकट न मिलने वह परेशान दिखे। इधर टिकट दलालों की सक्रियता बढ़ने से यात्री ही नहीं अधिकारी व कर्मचारी भी परेशान हो गए हैं। दिल्ली से आने वाली प्रमुख ट्रेन वैशाली, गोरखधाम, अमृतसर, सत्याग्रह तक में सीट नहीं मिल रही हैं। रेलवे के अनुसार छठ पूजा यानी 2 नवंबर तक भीड़ रहेगी। इसके बाद डाउन ट्रेनों में भीड़ कम होगी, जबकि अप ट्रेनों में बढ़ जाएगी।

अवैध टिकट कारोबार में अब तक दो दलालों पर कार्रवाई हो चुकी है। 12 सितंबर को लोहरौली में जबकि 15 अक्टूबर को कप्तानगंज में एक-एक दलालों को आरपीएफ ने गिरफ्तार किया है। आरपीएफ के इंस्पेक्टर नरेंद्र यादव ने बताया कि आरक्षण काउंटर पर निगरानी बढ़ा दी गई है। जांच कराई जा रही है। साथ ही आनलाइन टिकट कारोबारियों पर नजर रखी जा रही है। स्टेशन अधीक्षक विश्वंभर चौधरी ने कहा कि ट्रेनों में भीड़ के मद्देनजर सतर्कता बढ़ाई गई है। नियमित सूचना दी जा रही हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप