बस्ती: रामजन्म भूमि को लेकर आने वाले फैसले के बाद उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए पुलिस कमर कस चुकी है। एक कंपनी एसएसबी, एक कंपनी पीएसी के साथ ही 141 रिक्रूट आरक्षी भी कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए लगाए गए हैं। हर थाने पर एक क्यूआरटी गठित की गई है जबकि पुलिस लाइन में दो क्यूआरटी होगी। इसमें एक महिला पुलिस की टीम होगी। पुलिस लाइन में मेन कंट्रोल रूम बनाया गया है।

पुलिस अधीक्षक हेमराज मीणा ने बताया कि फैसले के बाद की स्थिति से निपटने के लिए तैयारियों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ा जा रहा है। पुलिस की 10 गाड़ियों को रिजर्व रखा गया है, इन पर एक उपनिरीक्षक व चार सिपाही तैनात किए गए हैं। रामजानकी मार्ग से लेकर हाईवे तक 10 स्कूलों को चिन्हित किया गया है, जहां जरूरत पड़ने पर लोगों को रोककर रखा जा सके। हाईवे पर स्थित खझौला, बड़ेवन, विक्रमजोत व घघौवा पुलिस चौकी पर सब कंट्रोल रूम बनाया गया है। यहां जरूरी सेटअप लगाए जा रहे हैं। इन पर एक एक इंस्पेक्टर भी लगाए गए हैं। हाईवे पर 10 किलोमीटर बाद एक क्रेन की व्यवस्था की गई है। हाईवे के थानों पर सुरक्षा कर्मियों के पर्याप्त इंतजाम किए गए हैं। कहा कि अयोध्या पर बस्ती जनपद के लोगों का अधिक प्रेशर न पड़े ऐसे में लोगों पर निगरानी की जाएगी। एसपी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने एक दिन पूर्व वीडियो कान्फ्रेंसिग के दौरान बस्ती का बार बार नाम लिया। अधिकारियों से कहा कि वे किसी के दबाव में काम नहीं करेंगे। जो भी कानून व्यवस्था बिगाड़े उस पर कड़ी कार्रवाई करें।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस