जागरण संवाददाता, बस्ती : कोरोना वायरस के जारी कहर के बीच मुंबई, दिल्ली समेत विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगारों के लौटने का सिलसिला रविवार को भी जारी रहा। रविवार को विभिन्न राज्यों से बस्ती स्टेशन पर पहुंची 13 ट्रेनों से उतरे 196 यात्रियों की कोविड जांच हुई। जिसमें एक की रिपोर्ट पाजिटिव आई है।

यहां पहुंचे प्रवासी कामगारों की पहले थर्मल स्क्रीनिग की गई। संदिग्ध दिखने पर कोरोना की जांच की गई। राज्यों में फैले कोरोना वायरस के चलते लागू पाबंदियों के बाद प्रवासी कामगार तेजी से घर लौट रहे हैं। काम-धंधा बंद होने के चलते प्रवासी कामगारों के सामने जब रोजी-रोटी का संकट खड़ा हुआ तो गांव की ओर निकल पड़े हैं। मुंबई, दिल्ली, गुजरात समेत विभिन्न राज्यों से प्रवासी कामगार आ रहे हैं। स्टेशन पर मौजूद स्वास्थ्य टीम ने यात्रियों की ही कोविड जांच की गई। एक यात्री में संक्रमण की पुष्टि हुई है। स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों की पहले थर्मल स्क्रीनिग कराई जा रही थी। संदिग्ध दिखने पर उन यात्रियों की कोविड जांच कराई जा रही थी। जिले में हर दिन करीब चार से पांच हजार यात्री गांव लौट रहे हैं। इसके पीछे मुंबई व दिल्ली में लाकडाउन लागू होने का कारण बताया जा रहा है। इसके अलावा कुछ यात्री घर में शादी-विवाह समारोह में शामिल होने की बात कह रहे हैं। इसमें से सर्वाधिक यात्री मुंबई से लौट रहे हैं। स्टेशन पर सुबह पांच बजे से शाम सात बजे तक कोविड जांच कार्य हो रहा है। नोडल अधिकारी नगरीय डा. एके कुशवाहा ने बताया कि जांच कार्य नियमित चल रहा है। सीनियर एलटी आनंद प्रकाश श्रीवास्तव के नेतृत्व में एलटी रामगोपाल गुप्ता, विपिन कुमार शुक्ल, शैलेंद्र, विष्णु मोहन मिश्र, आरके गुप्ता समेत अन्य स्वास्थ्य कर्मी बचाव के साथ कोरोना जांच किए। सुरक्षा व्यवस्था में आरपीएफ व जीआरपी टीम मुस्तैद रही। आरपीएफ इंस्पेक्टर नरेंद्र यादव ने बताया कि जो सभी यात्रियों पर पैनी नजर है।