बस्ती : जिला अस्पताल की इमरजेंसी सेवा से लोग ऊब गए हैं। दोपहर बाद यहां चिकित्सा सेवाएं फेल हो जाती हैं। इलाज के लिए मरीजों को घंटों भटकना पड़ता है। कुछ ऐसा ही हुआ मंगलवार को, जब एक मासूम टूटे हाथ का एक्स-रे कराने को घंटों भटकती रही।

हुआ यह कि हर्रैया थाना क्षेत्र के त्रिलोकपुर निवासी गोपाल की नौ साल की बिटिया लक्ष्मी मोटरसाइकिल पर जाते समय मंगलवार को सड़क पर गिर पड़ी। हाथ टूट गया। परिजन लक्ष्मी को सीएचसी हर्रैया पहुंचाए। यहां चिकित्सक ने व्यवस्था के अभाव में जिला अस्पताल रेफर कर दिया। परिजन अर्जुन गुप्ता ने बताया कि तीन बजे जिला अस्पताल के इमरजेंसी में पहुंच गए। लक्ष्मी दर्द से कराहती रही और परिजन चिकित्सक से जल्द एक्स-रे कराने के लिए मनुहार करते रहे। बात करने पर चिकित्सक व स्टाफ भड़क जाते थे। दो घंटे तक एक्स-रे टेक्नीशियन गायब रहे। हो-हल्ला के बाद टेक्नीशियन आए। फिर किसी तरह से एक्स-रे हुआ।

प्रभारी प्रमुख अधीक्षक डा. राम प्रकाश ने बताया कि इमरजेंसी में एक्स-रे की सुविधा है। जरूरत पड़ने पर तत्काल एक्स-रे कराया जाता है। एक्स-रे टेक्नीशियन कहां रहे, इस बारे में जानकारी की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस