बस्ती : प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के तहत शहरी क्षेत्र में भी अब कैंप लगाकर गोल्डन कार्ड बनवाए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग इसके लिए योजना तैयार कर रहा है। दिसंबर तक शत-प्रतिशत लाभार्थियों का गोल्डन कार्ड बनाने का लक्ष्य रखा गया है।

जिले में कैंपों के आयोजन का दूसरा चरण शुरू किया गया है। प्रशासन ने अगले माह तक लाभार्थियों का कार्ड बनाने के निर्देश दिया है। आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी परिवार को एक साल में पांच लाख रुपये तक निश्शुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। जनपद में तीन सरकारी और 16 निजी अस्पतालों में यह सुविधा दी जा रही है। कामन सर्विस सेंटर की मदद से ग्राम पंचायत स्तर पर कैंप लगाकर गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे। सीएससी पर इसके लिए 30 रुपये प्रति कार्ड फीस निर्धारित है, जबकि सूचीबद्ध अस्पतालों में यह सुविधा निश्शुल्क प्रदान की जा रही है। आयुष्मान योजना में 1.59 लाख लाभार्थी हैं। 64 हजार लोगों के पास ही कार्ड हैं। अब शहर में भी कैंप लगाकर यह कार्ड बनवाए जाएंगे। 65 सीएससी सक्रिय हैं। डिप्टी सीएमओ डा. सीएल कन्नौजिया ने कहा कि योजना में अब तक 3725 लोगों को निश्शुल्क इलाज की सुविधा मिल चुकी है। गोल्डन कार्ड की संख्या बढ़ाने के लिए शहर में कैंप लगाए जाएंगे। शत-प्रतिशत पात्रों को गोल्डन कार्ड दिए जाएंगे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस