बस्ती: विकास भवन सभागार में विकास कार्यो की समीक्षा बैठक के दौरान डीएम डा. राजशेखर ने नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के निर्माण में लापरवाही बरतने के आरोप में कार्यदाई संस्था आवास विकास निर्माण निगम को ब्लैक लिस्टेड कर दिया है। इसके साथ ही उस पर एक लाख रुपये का अर्थदंड भी लगाया है। अब जिले में आवास विकास निर्माण निगम को कोई कार्य आवंटित नहीं किया जाएगा।

बैठक में पीडब्ल्यूडी की ओर से बनवाई जा रही कई सड़कों के अपूर्ण होने पर उन्हे दिसंबर 2018 तक हर हाल में पूरा कराने का निर्देश दिया। इसमें देरी पर संबंधित अभियंता को'प्रतिकूल प्रविष्टि'और संबंधित ठेकेदार'ब्लैक लिस्टेड'करने की चेतावनी दी।डीएम ने 14 सितंबर को दोपहर एक बजे बस्ती के प्रत्येक सड़क पर गड्ढा मुक्ति योजना और प्रस्ताव'की समीक्षा करने के लिए पीडब्ल्यूडी, पीएमजीएसवाई, जिला पंचायत, नगर पालिका, मंडी परिषद की बैठक'बुलाई है। जिसमें उन्हें सड़क-वार यह कार्ययोजना प्रस्तुत करना है कि अक्टूबर 2018 तक किस तरह से हर हाल में इसे पूरा किया जा सकता है। डीएम ने कहा कि 20 जिला स्तरीय अधिकारियों को एक से 30 अक्टूबर तक चलाए जाने वाले गड्ढा मुक्ति अभियान के क्रास चे¨कग के लिए नामित किया जाएगा। डीएम ने सभी संबंधित विभागों को निर्देशित किया है कि वे'व्यक्तिगत लाभार्थी परक कार्य, परियोजनाओं'को पूरा करने के लिए बिना मार्च 2019 का इंतजार किए बगैर दिसंबर 2018 तक पूरा कर लें।

इस मौके पर सीडीओ अर¨वद कुमार पांडेय, सीएमओ डा. जेएलएम कुशवाहा, पीडी आरपी ¨सह, डीडीओ नीरज श्रीवास्तव, डीसी मनरेगा इंद्रपाल ¨सह सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस