बस्ती : भविष्य निधि घोटाले को लेकर विद्युत अभियंताओं और कर्मचारियों में आक्रोश है। पीएफ फंड की वापसी जल्द कराने की मांग को लेकर बुधवार को हुंकार भरी। विरोध-प्रदर्शन किया। कहा सरकार फंड वापसी की गारंटी ले।

राज्य विद्युत परिषद जूनियर इंजीनियर्स संगठन के बैनर तले अभियंताओं व कर्मचारियों ने संगठन कार्यालय के समाने प्रदर्शन के बाद जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन से मुलाकात की और मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा। अभियंताओं ने कहा गलत तरीके से कर्मचारियों के पैसे का निवेश किया गया है। दोषियों पर कार्रवाई करें। जो कर्मचारी फंड के इंतजार में बैठे थे, उनके सामने संकट खड़ा हो गया है। शादी-विवाह में समस्या आ गई है। ट्रस्ट का नए सिरे से विस्तार हो। उपलब्ध फंड का श्वेत पत्र जारी किया जाए। इसके बाद पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचकर एसपी हेमराज मीणा को भी ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान राम इकबाल प्रसाद, अभिषेक ओझा, जितेंद्र मौर्य, आशुतोष लाहिड़ी, प्रकाश वर्मा, राघवेंद्र प्रताप, अभिषेक कुमार, लाल बहादुर यादव, राघवेंद्र द्विवेदी, अभय कुमार सिंह मौजूद रहे।

--

मुख्य अभियंता कार्यालय के सामने भी धरना:

संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले मुख्य अभियंता कार्यालय के सामने धरना दिया गया। अभियंताओं ने कहा, सरकार जल्द कोई निर्णय ले। लखनऊ में अब धरना-प्रदर्शन करेंगे। आरबी कटियार, हेमंत सिंह, छोटेलाल, संतोष कुमार, मनोज कुमार यादव, सुशील कुमार, प्रवीण कुमार, गजेंद्र श्रीवास्तव, अशर्फी लाल आदि मौजूद रहे।

-------

निराश लौटे फरियादी :

हड़ताल के चलते काम-काज प्रभावित हुआ तो जो फरियादी पहुंचे उन्हें निराश लौटना पड़ा। उपभोक्ता सुभाष चंद्र को बिलिग में सुधार कराना था, नहीं हुआ। संतलाल भी विद्युत संबंधी शिकायत लेकर पहुंचे थे। वापस जाना पड़ा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस