बस्ती: सदर विकासखंड के न्याय पंचायत महसों में मिशन प्रेरणा की संकुल स्तरीय बैठक हुई। इसमें खंड शिक्षा अधिकारी इंद्रजीत ओझा ने न्याय पंचायत के शिक्षक संकुल तथा अध्यापकों को मिशन प्रेरणा के तत्वावधान में चल रहे क्रियाकलापों को बेहतर ढंग से संचालित करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा बच्चों को रेमेडियल टीचिग (उपचारात्मक शिक्षण) के अनुसार पढ़ाया जाए।

एसआरजी आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि प्रत्येक ब्लाक में एआरपी के माध्यम से 15 प्राथमिक विद्यालय और पांच पूर्व माध्यमिक विद्यालयों का चयन किया जा रहा है, जिसमें आपरेटिग सिस्टम असेंबली से लेकर के अंतिम घंटे तक व्यवस्थित तरीके से चलाए जाने के गुर सिखाए जाएंगे। एआरपी अनिल कुमार पांडेय ने प्रेरणा लक्ष्य, प्रेरणा सूची, प्रेरणा तालिका, ध्यानाकर्षण शिक्षण संग्रह आदि पर चर्चा की।

एआरपी डा. राम शंकर पांडेय ने शिक्षक डायरी और पाठ योजना के बारे में जानकारी दी। एआरपी अविनाश शुक्ला ने भाषा को पढ़ाने के प्रभावी तरीके को साझा किया। एआरपी आशुतोष पांडेय ने विशेष रूप से पूर्व माध्यमिक विद्यालय में विज्ञान प्रोजेक्ट बनवाने पर चर्चा की।

इस अवसर पर अमरेंद्र, परिणीता, ज्योति, प्रियंका, पूजा, राघवेंद्र सिंह, ऊषा गोस्वामी, प्रवीन पांडेय, अनिल दुबे, अंजना, अख्तर जहां,माया, मधूलिका, सुधीर कुमार, दीपिका श्रीवास्तव मौजूद रहीं।

--

समस्याओं को लेकर प्रशासनिक अधिकारी से मिले शिक्षक

बस्ती : उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष उदयशंकर शुक्ल के नेतृत्व में बुधवार को शिक्षकों का प्रतिनिधिमंडल जिलाधिकारी के प्रशासनिक अधिकारी से मिला। उन्हें राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मानव संसाधन मंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, शिक्षामंत्री, मुख्य सचिव को 17 सूत्रीय संबोधित ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में पुरानी पेंशन बहाली, शिक्षकों को 18150 एवं 17140 का वेतन भुगतान, शिक्षामित्र और अनुदेशकों को 35 हजार नियत वेतन, आंगनबाड़ी 15 हजार, सहायिका और रसोइया को 11 हजार रुपये न्यूनतम वेतन देने सहित अन्य मांगे शामिल हैं।

प्रतिनिधिमंडल में राघवेंद्र प्रताप सिंह, शैल शुक्ल, विजय प्रकाश चौधरी, आनंद दुबे, अभिषेक उपाध्याय, बब्बन पांडेय, कन्हैयालाल भारती, सोमईराम मौजूद रहे।

Edited By: Jagran