बस्ती : स्वास्थ्य विभाग की जननी सुरक्षा योजना (जेएसवाई) में निश्शुल्क भोजन वितरण ठीका में धांधली बरत अपात्र को देने के आरोप को लेकर मामला गरम हो गया है। जिलाधिकारी ने मामले की जांच कराने व कार्रवाई की बात कही है।

महिला अस्पताल में प्रसूताओं और जिला अस्पताल में भर्ती मरीजों को निजी संस्था द्वारा जननी सुरक्षा योजना के तहत निश्शुल्क भोजन दिए जाने की व्यवस्था है। बीते 17 मार्च को ई-टेंडरिग के जरिये निविदा कराई गई। 18 मार्च को 40 लाख रुपये का टेंडर खोला गया। बलरामपुर के ओम प्रकाश तिवारी ने मुख्यमंत्री, मंडलायुक्त व जिलाधिकारी से पत्र के जरिये शिकायत करते हुए कहा है कि 40 बिदुओं का मानक पूर्ण करने वाली संस्था को ही नियमानुसार टेंडर देना होता है। पर, ऐसा नहीं हुआ। जिनके पास पात्रता थी उसे दरकिनार कर, चहेते ठीकेदार को टेंडर दिया गया। दूसरी ओर भोजन की गुणवत्ता को लेकर भी लाभार्थियों द्वारा सवाल उठाए जाने से इस शिकायत को और आधार मिला है। इसके बाद प्रशासन भी गंभीर हो चला है।

-------

भोजन वितरण निविदा में गड़बड़ी का मामला संज्ञान में आया है। इसकी जांच कराई जाएगी। यदि गड़बड़ी मिली तो संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। निविदा की शर्तों को देखा जा रहा है।

-डा. जेपी त्रिपाठी, सीएमओ बस्ती

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस