बस्ती: विकासखंड गौर के ग्राम पंचायत एकटेकवा में स्वच्छता मिशन भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई है। यहां सामुदायिक शौचालय का आधा-अधूरा निर्माण कराकर जिम्मेदारों ने सरकारी धन का बंदर बांट कर लिया। स्वच्छ भारत मिशन के तहत पिछले पंचवर्षीय में एकटेकवा में 6.92 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक शौचालय का निर्माण कार्य शुरू हुआ। दीवार, छत और आधा अधूरा प्लास्टर कराकर छोड़ दिया गया।

योजना के तहत अलग-अलग कार्यों के लिए करीब पांच लाख रुपए का भुगतान भी कर दिया गया है। लेकिन सामुदायिक शौचालय का पचास फीसद कार्य ही कराया गया। शौचालय शीट, फर्श, टाइल्स, पानी टंकी, विद्युतीकरण आदि कार्य अभी तक नही हुआ है। झाड़ झंखाड़ उग गए है। जिम्मेदार अब चुप्पी साधे हुए है। सचिव राम सुभाष चौधरी इसी ब्लाक के मिरवापुर में प्रावि अभयपुरा में बिना बाउंड्री वाल निर्माण कराए धन आहरित करने के मामले में एक माह पूर्व निलंबित भी हो चुके थे। इसके बाद आनन फानन में बाउंड्री वाल का निर्माण कराया गया था।

पूर्व प्रधान कुमारी देवी ने बताया कि सचिव व अन्य लोगों से बात की गई है। निर्माण कार्य पूरा कराया जाएगा। ग्रामीण अभियंत्रण सेवा विभाग के जेई एनडी सिंह ने कहा कि उन्होंने शौचालय का कोई एमबी नही किया है। हाल ही में उन्हें विभाग द्वारा मूल्यांकन करने का निर्देश मिला है। सचिव राम सुभाष चौधरी ने बताया कि व्यस्तताओं के चलते निर्माण कार्य पूरा नही हो पाया। 4.95 लाख रूपए का भुगतान किया गया है।

बीडीओ गौर प्रभा शंकर चौबे ने बताया कि भुगतान के सापेक्ष कार्य क्यों नही हुआ इसकी जांच कराई जाएगी। दोषी पाए जाने पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी। अधूरा निर्माण कार्य जल्द पूरा कराया जाएगा।

Edited By: Jagran