बस्ती, जागरण संवाददाता। जिले की नोडल अफसर निदेशक, प्रशासन एवं प्रबंधन अकादमी नीना शर्मा ने बस्ती प्रवास के दूसरे दिन गुरुवार को वह योजनाओं की हकीकत जांचने साऊंघाट विकास क्षेत्र के ग्राम पंचायत मुजहना पहुंच गई। 68 पात्रों को शौचालय योजना का लाभ नहीं मिलने पर अफसरों की जमकर क्लास लगाई। 

प्रभारी मंत्री बेबीरानी मौर्य की चौपाल के बाद भी योजनाओं का लाभ पात्रों को नहीं दिए जाने पर वे मुख्य विकास अधिकारी (सीडीओ) डा.राजेश कुमार प्रजापति से सौ दिन का हिसाब मांगने लगीं। पसीने से तर-बतर सीडीओ को कोई जवाब नहीं सूझा। नाराज नोडल अफसर के सामने डीएम ने अफसरों को इसके लिए शाम तक का समय दिया। चेताया पात्रों को शौचालय न दिए जाने पर संबंधित कर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

नोडल अफसर ने गांव में चौपाल लगाकर एक-एक योजनाओं का सत्यापन किया। इस दौरान ग्रामीणों ने सवालों की बौछार की तो खंड विकास अधिकारी कन्नी काटने लगे। बताया गया कि सौ दिन पहले गांव में प्रभारी मंत्री आई थी। पात्रों को योजनाओं का लाभ दिए जाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया था लेकिन कुछ नहीं हुआ। 

पंचायत सहायक को कार्यमुक्त करने के निर्देश

नोडल अफसर ने सरकारी लाभकारी योजनाओं से छूटे हुए पात्रों को लाभान्वित करने का निर्देश दिया। कहा कि रात दस बजे तक पात्रों को चिह्नित कर लाभान्वित किए जाने की कार्यवाही पूरी कर सूची उपलब्ध नहीं कराने पर खंड विकास अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि, ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित करने तथा पंचायत सहायक को कार्यमुक्त करने का निर्देश दिया।

पात्र परिवार को कष्ट होगा तो हमें भी होगा

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देश पर मंत्री एवं अधिकारी गांव में जाकर योजनाओं का सत्यापन कर रहे हैं। छूटे हुए पात्र व्यक्तियों को योजनाओं का लाभ दिला रहे हैं। अधिकारियों-कर्मचारियों के विरुद्ध कार्यवाही करना उनका मकसद नहीं है, लेकिन पात्र परिवार को कष्ट होगा तो हमें भी कष्ट होगा। कहा अधिकारी कार्य संस्कृति में बदलाव लाएं और सरकार की मंशा के अनुरूप कार्य करें। 

प्राथमिक विद्यालय में बच्चों से पूछे सवाल

नोडल अफसर ने पूर्व प्राथमिक विद्यालय मुजहना का निरीक्षण किया तथा किताबों एवं खेल के सामान की प्रदर्शनी देखी। छात्रों का ज्ञान परखने के लिए वह कक्षा सात के बच्चों के बीच गई। छात्र शहबाज से कहानी पढ़वाई और उससे जुड़े सवाल कक्षा के अन्य छात्र-छात्राओं से पूछे। सही जवाब देने वाले छात्राओं को उन्होंने प्रोत्साहित किया। शिक्षक को निर्देश दिया कि इसी प्रकार बच्चों से कहानी पढ़ाएं तथा अन्य बच्चों से प्रश्न पूछे। इससे कि उनकी पढ़ने की क्षमता बढे़गी एवं तत्काल जवाब देने की क्षमता में वृद्धि होगी। 

यह रहे मौजूद

इस मौके पर स्वास्थ्य, महिला एवं बाल विकास, मिशन शक्ति, कौशल विकास, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन, श्रम, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि,किसान क्रेडिट कार्ड,उद्योग विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। सीएमओ डा.आपी मिश्रा, सीआरओ नीता यादव, पीडी कमलेश सोनी, डीडीओ अजीत श्रीवास्तव, एसडीएम सदर शैलेष दुबे, उपनिदेशक कृषि अनिल कुमार, सीवीओ डा.अश्वनी कुमार, अधीक्षण अभियंता विद्युत सुशील कुमार मौर्य, खंड विकास अधिकारी रमेश दत्त, ग्राम प्रधान दूधनाथ, चन्द्र शेखर, लालजी कन्नौजिया,रीता सहित लोग ग्रामीण उपस्थित रहे।

Edited By: Shivam Yadav