जासं देईसांड़, बस्ती: प्रदेश सरकार के संयुक्त आयुक्त मनरेगा धर्मेन्द्र प्रताप सिंह ने मनरेगा से कराए जा रहे विकास कार्यो का जायजा लिया। वह बनकटी विकास खंड के ग्राम पंचायत मनिकौरा खुर्द व मेहड़ा गांव पहुंचे। जहां सड़क की पटरियों सहित मनरेगा से कराये जा रहे विकास कार्यों का निरीक्षण किया। खंड विकास अधिकारी डा. विवेक कुमार को निर्देशित किया कि जिस ग्राम पंचायत में मनरेगा से कार्य न हो रहा हो वहां भी तत्काल कार्य प्रारंभ कराएं, जिससे सभी मनरेगा मजदूरों को काम मिल सके।

खंड विकास अधिकारी के साथ सचिव राजेन्द्र प्रसाद, पवन पांडेय, सर्वेश यादव ,एडीओ आइएसबी रामप्रकाश तिवारी की मौजूदगी में संयुक्त आयुक्त मनरेगा ने विकास कार्यो का निरीक्षण किया। इस दौरान मनिकौरा गांव में चल रहे पिच रोड के किनारे पटरी मरम्मत कार्य को देखा। मनरेगा मजदूरों से मजदूरी का भुगतान व मोबाइल मानीटरिग सिस्टम से हाजिरी के बारे में पूछताछ की। मेहड़ा में पहुंचे संयुक्त आयुक्त ने ग्राम पंचायत सचिव राजेंद्र से पटरी मरम्मत कार्य में लोक निर्माण विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र लेने के संबंध में पूछताछ किया। रोजगार सेवक उर्मिला चौधरी से महिला मेट के नियोजन की जानकारी ली। मनरेगा के कार्यों में पारदर्शिता के लिए सोशल आडिट महत्वपूर्ण

जासं,बस्ती: अमृत महोत्सव के अवसर पर सोशल आडिट जन सुनवाई एवं जागरूकता अभियान के तहत विकास भवन सभागार में सेमिनार का आयोजन किया गया। अध्यक्षता सीडीओ डा. राजेश कुमार प्रजापति ने किया। कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं मनरेगा के कार्यों में पारदर्शिता लाने के लिए सोशल आडिट महत्वपूर्ण माध्यम है। सोशल आडिट में ग्राम सभा की बैठक में प्राप्त शिकायतों के त्वरित निस्तारण के लिए जवाबदेह कर्मचारियों का उपस्थित रहना अनिवार्य है। पीडी कमलेश कुमार सोनी, उपायुक्त श्रम रोजगार राम दुलार मौजूद रहे।

Edited By: Jagran