बस्ती : यदि आप अंत्योदय कार्ड धारक हैं और घर पर भैंस है तो इसका लाभ नहीं मिलेगा। क्योंकि आप इस योजना की पात्रता की सूची से बाहर होंगे। अपात्रों द्वारा इस योजना का लाभ लेने की शिकायत के बाद शासन द्वारा फिर से सर्वे कराया जा रहा है। इसमें यह देखा जाएगा कि बिजली कनेक्शन, पक्का मकान, जमीन, भैंस, बैल, ट्रैक्टर- ट्राली, मुर्गी पालन व चार पहिया वाहन आदि में से कोई भी आय का संसाधन उपलब्ध है क्या? यदि होगा तो राशनकार्ड निरस्त कर दिया जाएगा।

जनपद में अंत्योदय अन्न योजना के तहत 89067 लोग चयनित हैं। शिकायत मिली है कि इसमें अपात्रों की भरमार है। चयन प्रक्रिया में मानक का ध्यान दिए बगैर सुविधा संपन्न लोगों को भी अंत्योदय कार्डधारक बना दिया गया है। इसीलिए शासन ने नए सिरे से सर्वे का फरमान जिलाधिकारी को दिया है। उनको ही इस योजना का लाभ मिलेगा जिनके परिवार का मुखिया विधवा, बीमार, दिव्यांग या 60 साल से अधिक का होगा या जीविकोपार्जन का कोई साधन न हो। एकल महिला, आदिवासी व जनजातीय परिवार भी इसका लाभ उठा सकते हैं।

जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने बताया कि ग्रामीण क्षेत्रों में सर्वे कराने के लिए खंड विकास अधिकारी और शहरी क्षेत्र में निकायों को निर्देश दिए जा चुके हैं। सर्वे के दौरान टीम को पात्रों का पूरा ब्योरा संकलित करना होगा। अपात्रों का राशन कार्ड निरस्त किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस