बस्ती : विश्व बैंक के विशेषज्ञ विजय गावड़े ने कहा कि नीर-निर्मल परियोजना के तहत जनपद के 23 ग्राम पंचायतों में पानी टंकी का निर्माण चल रहा है। यह जल्द पूरा हो जाएगा। वह विकास भवन में आयोजित कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। कहा कि 15 ग्राम प्रधानों से मुलाकात कर स्थिति जांची परखी गई है।

ग्रामीण पाइप पेयजल योजनाओं के संचलन एवं अनुरक्षण कार्यशाला में विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई। स्टेट से आए सौरभ मिश्र व गोंडा के डीपीएमयू देवेश मिश्र नीर-निर्मल परियोजना की समीक्षा की। कहा कि पानी टंकी का निर्माण पूरा होते ही जलापूर्ति शुरू हो जाएगी। सिसवारी प्रधान ने कहा ग्राम पंचायत में पानी की टंकी बन तो गई है लेकिन, सुचारू रूप से ग्राम पंचायत को पानी नहीं मिल पा रहा है। इस पर विशेषज्ञ गावड़े ने जल निगम को लापरवाही न बरतने की हिदायत दी। संबंधित संस्था पर जुर्माना लगाने को भी कहा। उपस्थित प्रधानों ने लीकेज की समस्या बताई। कोई टूल बाक्स भी नहीं मिलने की जानकारी दी गई।

प्रधानों ने जलनिगम पर लापरवाही का आरोप लगाया। गोंडा से आए रोहित ने बताया कि पाइप पेयजल योजना को तभी हैंडओवर किया जाएगा जब तक तकनीकी खामियां दूर नहीं होंगी। आडिट के बाद जांच कराई जाएगी। रिपोर्ट ठीक मिलने पर खुली बैठक में हैंडओवर की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। जल निगम के अधिशासी अभियंता विश्वेश्वर प्रसाद, बस्ती डीपीएम रोहित सिंह मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस