जेएनएन, बरेली : रामगंगा पुल पर कार को ओवरटेक करते समय बाइक टकराने पर खासा विवाद हो गया। बात इतनी बढ़ गई कि बाइक सवार पिता-पुत्र ने कार सवार युवक को पुल से नीचे फेंक दिया। युवक की जान तो बच गई लेकिन सुध-बुध खो बैठा। हंगामा होने पर पुलिस पिता-पुत्र को थाने ले आई। देर रात कार सवार युवक के परिजनों ने पुलिस को तहरीर दी है। मेडिकल कराने पर युवक की 15 हड्डियां टूटी निकली हैं। 

रामगंगा पुल से बदायूं की ओर जाते समय मढ़ीनाथ निवासी रामभरोसे व उनके पुत्र राहुल की बाइक ओवरटेक करने के चलते कार से टकरा गई। इससे बाइक सवार पिता-पुत्र सड़क पर गिर पड़े। कार सवार विवेक निवासी रसूलपुर परिवार के साथ बदायूं जा रहे थे। वह हादसे के बाद कार लेकर जाने लगे तो पिता-पुत्र ने पुल पर बाइक आगे लगाकर कार रोक ली। फिर कार सवार विवेक को खींचकर बाहर निकाला। आरोप है कि उसे जमकर पीटा। फिर पुल से नीचे फेंक दिया।

दलदली मिट्टी से बची जान 

गनीमत रही कि 20-25 मीटर ऊंचे पुल के नीचे दलदली मिट्टी होने के चलते उसकी जान बच गई। युवक को पुल से नीचे फेंकने के बाद वहां अफरा-तफरी मच गई। राहगीरों ने आरोपित पिता-पुत्र को पकड़ लिया। सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों को चौकी ले आई। चौकी पर काफी देर तक हंगामा होने के बाद युवक को अस्पताल में भर्ती कराया गया। रात में युवक का मेडिकल कराया गया तो उसकी शरीर में 15 हड्डियां टूटी निकली।  

 घटना से खौफजदा थे परिजन

मारपीट से डरे-सहमे परिजनों के सामने ही जब विवेक को पुल के नीचे फेंक दिया गया तो वे हक्के-बक्के रह गए। विवेक की पत्नी तो बदहवास हो गई। वह चिल्लाते हुए इधर-उधर दौडऩे लगी। विवेक को बचाने की पुकार लगाने लगी। विवेक को नीचे गिरते देख लोग दौड़े। नीचे जब उसे होश में देखा तो लोगों ने राहत की सांस ली।

 तहरीर मिल गई है। मामले की जांच की जा रही है। आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

-हरीश चंद्र जोशी, इंस्पेक्टर, सुभाष नगर

 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस