बरेली। मंडल के बदायूं जिले में मंगलवार सुबह एसएसपी दफ्तर में उस वक्त अफरा-तफरी मच गई। जब एक युवक मिट्टी के तेल की केन लेकर कार्यालय में पहुंचा और मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगाने का प्रयास किया। आत्मदाह का प्रयास करने पर पुलिसकर्मियों ने उसको मौके पर ही दबोच लिया। इसके बाद पूछताछ की गई तो उसने बताया कि केसीसी के नाम पर सर्व यूपी ग्रामीण बैंक गुलड़िया के प्रबंधक ने उसका जमकर उत्पीड़न किया है। पुलिस ने यह मामला बैंक प्रबंधन को बताते हुए उसको हिरासत में ले लिया। आत्मदाह का प्रयास करने वाले युवक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की जा रही है। मूसाझाग थाना क्षेत्र के कस्बा गुलड़िया निवासी सुनील पटेल ने किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के लिए बैंक में आवेदन किया था, मगर उसे पता नहीं था कि बैंकिंग सिस्टम में भी भ्रष्टाचार के धुन लग चुके हैं। आरोप है कि केसीसी के लिए आवेदन करने पर बैंक में सक्रिय दलालों ने उससे कमीशन मागी तो वह चौंक गया। उसने शाखा प्रबंधक से बात की तो उन्होंने भी सुविधा शुल्क मागा। उसने इसकी शिकायत थाने से लेकर हर जगह शिकायत की, लेकिन उसकी सुनवाई कहीं नहीं हुई। उसने बाद में लीड बैंक मैनेजर (एलडीएम) से भी शिकायत की, जहा कोई हल नहीं निकला। इसके बाद वह काफी मजबूर हुआ तो किसी ने उसको एसएसपी दफ्तर पर आत्मदाह की कोशिश की सलाह दे दी। मंगलवार को वह सुबह के वक्त एसएसपी आफिस पहुंच गया, जहा उसने अपने ऊपर मिट्टी का तेल छिड़क लिया। उसकी इस हरकत को एक पुलिसकर्मी ने देखा तो दौड़कर उसे दबोच लिया। तब जाकर उसको शात किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस