मीरगंज/दुनका (बरेली) : शाही थाना क्षेत्र के गांव हल्दी कलां में बुधवार सुबह एक विवाहिता ने मायके न पहुंच पाने से आहत होकर आत्महत्या कर ली। छत पर लटक रहे पंखे में फांसी का फंदे में झूलकर जान दे दी। शाही पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा।

हल्दी कलां के चंद्र मोहन पुत्र सिया राम संत रामपाल के अनुयायी है। इनका विवाह मध्य प्रदेश के ¨भड जिले में सत्संग के दौरान ही वहीं की युवती वंदना से छह वर्ष पूर्व हुआ था। वंदना के तीन बेटे हैं। वंदना कई दिनों से मायके जाने की जिद कर रही थी लेकिन उसका पति खेती का काम खत्म होने के बाद चलने की बात कह रहा था। मंगलवार सुबह पति पत्नी में इसी बात को लेकर नोकझोक हो गई। इससे आहत वंदना ने आत्महत्या कर ली। ग्राम प्रधान ने घटना की सूचना चौकी प्रभारी दुनका अनिल कुमार ¨सह को दी। महिला के आत्महत्या करने की सूचना पाकर शाही एसओ वेद प्रकाश गुप्ता पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। जांच करके घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी। सीओ मीरगंज रामप्रकाश के जनपद से बाहर होने के कारण सीओ बहेड़ी अशोक कुमार ¨सह ने शाही थाना में जाकर घटना से जुड़े तमाम पहलुओं की जांच की। देर शाम तक पीड़िता के मायके से नहीं आ सका। - वर्जन

घटनास्थल निरीक्षण किया। वंदना के पति ने बताया कि उसकी पत्नी ने सुबह अपनी मा से भी बात की थी। ऐसी कोई बात नहीं थी। पीएम रिपोर्ट मिलने पर ही घटना की दिशा तय हो सकेगी ।

अशोक कुमार ¨सह, सीओ बहेड़ी

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप