जेएनएन, बरेली : दो मंत्रियों को छोड़कर भाजपा के छह विधायकों ने कप्तान मुनिराज के बुलावे पर बैठक में हिस्सा लिया। त्योहार में सौहार्द बनाने से लेकर पुलिस से जुड़ी समस्याओं और कामकाज पर चर्चा हुई। बैठक में पूंर्व घोषणा के तहत बिथरी चैनपुर के विधायक पप्पू भरतौल नहीं पहुंचे।

एक बार टलने के बाद शनिवार को बैठक शाम साढ़े पांच बजे से शुरू हुई। शहर विधायक अरुण कुमार, भोजीपुरा के विधायक बहोरन लाल मौर्य, नवाबगंज के विधायक केसर सिंह, बहेड़ी के विधायक छत्रपाल सिंह, फरीदपुर के विधायक श्याम बिहारी लाल और मीरगंज के विधायक डॉ. डीसी वर्मा पहुंच गए। सभी ने बारी-बारी अपनी बात रखी। त्योहार के मद्देनजर सौहार्द बनाए रखने पर जोर दिया। केसर सिंह गंगवार ने अपने क्षेत्र के कुंडरा कोठी मार्ग से रेता-बजरी और गिट्टंी भरे भारी वाहन निकलने की शिकायत की। एसएसपी को बताया कि कर चोरी के लिए इस मार्ग का इस्तेमाल किया जा रहा है। ऐसे ही वाहन चालक टोल बचाने के लिए जादोपुर-हाफिजगंज मार्ग का इस्तेमाल करते हैं। मार्ग संकरे होने से हादसे हो रहे हैं। कप्तान से रोक लगाने की मांग की। कच्ची शराब बनने और बिकने का मामला भी उठा। इसके लिए अभियान चलाने पर जोर दिया गया। उधर, बिथरी चैनपुर के विधायक पप्पू भरतौल ने बैठक में नहीं जाने की वजह बताते हुए आरोप लगाया कि वह बामसेफ से संबंध रखने वाले अफसरों के यहां नहीं जाएंगे। यह भी बताया कि बूथों पर मतदाता बनवाने के काम में व्यस्त रहे। विधायकों ने बातचीत के दौरान क्षेत्रीय समस्याओं से अवगत कराया गया है। जिसके निदान के लिए संबंधितों को निर्देश जारी कर दिए हैं। त्योहार पर सौहार्द बनाए रखने को लेकर भी चर्चा हुई।

मुनिराज, एसएसपी

Posted By: Jagran