बदायूं, जेएनएन। स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर तैनात एक स्टाफ नर्स का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में नर्स ने चिकित्सा अधीक्षक डा. राजेश कुमार पर पक्षपात और शोषण के आरोप लगाए हैं। हालांकि चिकित्सा अधीक्षक ने आरोपों को पूरी तरह बेबुनियाद बताया है। सीएचसी पर तैनात एक नर्स का वीडियो सोशल साइट्स पर वायरल हो रहा है।

वीडियो में नर्स ने डा. राजेश कुमार पर पक्षपात करने का आरोप लगाया है। नर्स का कहना है कि चिकित्सा अधीक्षक उसके निरंतर ड्यूटी करने के बाद भी अनुपस्थिति लगा देते हैं। साथ ही उच्चाधिकारियों से वेतन रोकवा देते हैं। इसके अलावा नर्स ने डाक्टर पर शराब पीकर अपने कमरे में बुलाने का भी आरोप लगाया है।

वहीं, दूसरी तरफ चिकित्सा अधीक्षक का कहना है कि नर्स द्वारा लगाए गए आरोप निराधार हैं। सही बात यह है कि नर्स सदैव अनुशासनहीनता पर उतारू रहती है। सप्ताह में दो बार ही सीएचसी पहुंचती है। लिखित में नोटिस भी दिए गए। अप्रैल में माह अनुपस्थित रही। जिसके चलते उनका वेतन रोका गया है। इससे पहले भी इन्होंने मेरे शिकायत की थी। जो वाद में वापस ले ली। वेतन निकलवाने के लिए अनर्गल आरोप लगा रही है। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021