बरेली, नरेंद्र यादव। UP Vidhansabha Election 2022 : शाहजहांपुर 10 जनवरी को जन्मदिन मनाने वाले दल सिंह यादव 55 वर्ष पूर्व महज साइकिल से ही चुनाव प्रचार करते हुए विधायक बन आज के विधान सभा चुनाव पर होने वाले बेहिसाब खर्च से तुलना करें तो और हैरानी होगी। तब चुनाव पर मात्र 750 रुपये खर्च आया था। उनके साथ विधानसभा में पहली बार पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव सोशलिस्ट पार्टी व पूर्व मुख्यमंत्री स्व. कल्याण सिंह व प्रकाश गुप्ता जनता से विधायक चुनकर आए थे। दलसिंह यादव बताते है कि 55 साल में चुनाव प्रचार के तरीके के साथ सिद्धांत भी बदल गए।

जलालाबाद विधानसभा की ग्राम पंचायत मिर्जापुर के गांव इस्माइलपुर निवासी दल सिंह यादव पंतनगर कृषि विश्वविद्यालय से कृषि एवं पशुपालन में बीएससी आनर्स के बाद सेठ सियाराम माहौर विद्यालय में पढ़ा रहे थे। उस समय जनसंघ के जिलाध्यक्ष गंगा सिंह चौहान ने राष्ट्रीय महामंत्री पंडित दीनदयाल उपाध्याय से पैरवी कर दल सिंह को जनसंघ से टिकट दिला दिया।

5500 खर्च कर जीता दूसरा चुनाव

दल सिंह यादव बताते है कि 1969 में केशव सिंह 1600 मतों से चुनाव जीत गए। लेकिन 1974 में 5500 रुपये खर्च करके दोबारा से जनसंघ के टिकट पर चुनाव जीत लिया। इसके बाद 1977 लोकसभा का टिकट छोड़ विधानसभा का चुनाव लड़ा। निर्दलीय कन्हई सिंह विधायक बन गए।

समर्थकों ने बेलगाड़ी से लड़ाया चुनाव, छह हजार मतों से जीते

दल सिंह बताते है दीपक चुनाव चिन्ह के साथ साइकिल से चुनाव प्रचार को उत्तर पढ़े। बड़ी संख्या में युवा उनके साथ थे।समर्थक बैलगाड़ी से चुनाव प्रचार करते थे त कांग्रेस विधायक केशव सिंह को छह हजार मतों से विधान सभा चुनाव हरा दिया।पहली बार विधानसभा पहुंचे। उसी दौरान पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव सोशलिस्ट पार्टी तथा स्व कल्याण सिंह व रामप्रकाश गुप्ता जनसंघ से जीत कर आए।

Edited By: Ravi Mishra