बरेली,जेएनएन  शासन के सख्त आदेशों के बावजूद यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर केंद्र व्यवस्थापक सतर्क नहीं। निरीक्षण में प्रश्न पत्रों की सुरक्षा में लापरवाही देख जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआइओएस) का पारा चढ़ गया। डीआइओएस ने केंद्र व्यवस्थापक की कड़ी फटकार लगाई।

परीक्षा केंद्रों पर व्यवस्थाओं की जायजा लेने को डीआइओएस ने रविवार को परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया। आनंद भूषण इंटर कॉलेज मुड़िया नबी बख्श में प्रश्न पत्रों की अलमारी सीलबंद नहीं थी। डीआइओएस ने स्टाफ की फटकार लगाई और अलमारी सील कराई। एचए एकेडमी इंटर कॉलेज मुड़िया में बिजली कनेक्शन नहीं होने से सीसीटीवी कैमरों के जरिए मॉनिटिरिंग में समस्या था।

डीआइओएस ने जनरेटर और इंवर्टर की व्यवस्था कराई। लाखन सिंह इंटर कॉलेज में राजूनगला में जीबी पंत इंटर कॉलेज के शिक्षकों ने कक्ष निरीक्षक की ड्यूटी ज्वाइन नहीं की थी। इस पर कॉलेज में फोन कर शिक्षकों को कार्यमुक्त कराते हुए जल्द से जल्द परीक्षा ड्यूटी पर आने के आदेश जारी किए गए।

बोर्ड परीक्षा पर सुरक्षा के मद्देनजर सभी केंद्रों का दौरा किया जा रहा। जहां व्यवस्थाएं दुरुस्त नहीं मिलीं, वहां चेतावनी देते हुए ठीक कराई हैं।

- डॉ.अमरकांत सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक

अति संवेदनशील केंद्र, जहां अतिरिक्त व्यवस्थापक

अति संवेदनशील केंद्र सारांश उच्चतर माध्यमिक स्कूल सेंधा आंवला, दयानंद उच्चतर माध्यमिक स्कूल अंगदपुर खमरिया, संवेदनशील केंद्र दुनका इंटर कॉलेज, हवलदार अब्दुल हमीद इंटर कॉलेज वाहनपुर, एसएसटी सिमराबोरीपुर, राजा खन्नू सिंह इंटर कॉलेज शीशगढ़, सरदार पटेल विद्यालय फरीदपुर बहेड़ी में दूसरे कॉलेजों के शिक्षकों को अतिरिक्त केंद्र व्यवस्थापक के रूप में तैनाती हुई है।

कक्ष निरीक्षकों को लेकर शिक्षकों ने किया हंगामा

बोर्ड परीक्षा में बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई है। इसके बाद भी कक्ष निरीक्षकों की मांग हो रही। रविवार को भी डीआइओएस कार्यालय में कक्ष निरीक्षक को लेकर हंगामा होता रहा। परीक्षा के पहले दिन हंिदूी की बड़ी परीक्षा का हवाला देते हुए केंद्र व्यवस्थापक कक्ष निरीक्षक भेजने पर अड़े रहे।

कनेक्टिविटी फेल होने पर निगरानी होगी प्रभावित

यूपी बोर्ड की परीक्षाएं मंगलवार से शुरू हो रही हैं। केंद्रीय कारागार समेत 132 केंद्रों पर 96913 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। जिला विद्यालय निरीक्षक (डीआइओएस) कार्यालय से परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन निगरानी की जाएगी। देहात क्षेत्रों में कनेक्टिविटी की दिक्कत है, ऐसे में ऑनलाइन मॉनीटरिंग व्यवस्था प्रभावित हो सकती है। नकलविहीन परीक्षा के लिए सभी केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे, वायस रिकॉर्डर, राउटर, ब्रॉडबैंड लगाए जा चुके हैं। परीक्षा परिणाम के एक माह बाद तक रिकॉर्डिग सुरक्षित रखने के आदेश दिये गए हैं।

Posted By: Ravi Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस