पीलीभीत, जागरण संवाददाता। देवहा नदीं में नहाने गए दो किशाेर डूब गए। दो लोगों ने डूबते किशोरों को बचाने की कोशिश की पर वह सफल नहीं हो पाए। घटना की सूचना पर एसडीएम सदर, सीओ सिटी सहित चार थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। गोताखोर नदी में किशोरों की तलाश कर रहे हैं। 

शहर में  ईदगाह रेलवे क्रासिंग के निकट स्थित कांशीराम कालोनी निवासी रूस्तम का बेटा फरमान और उनके सामने रहने वाले अफजाल का बेटा अनस दोनों दोस्त है। मंगलवार दोपहर को दाेनों साथ टहलने के लिए घर से निकले थे। अपराह्न करीब दो बजे रुस्तम को किसी ने सूचना कि उनका बेटा मुक्तिधाम के पीेछे स्थित देवहा नदी में नहाते समय डूब गया है। हादसे की सूचना मिलते ही वह देवहा नदी पर पहुंच गए। देखते ही देखते मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई। सूचना मिलते ही एसडीएम सदर योगेश गोड़, सीओ सिटी सुनील दत्त, इंस्पेक्टर सुनगढ़ी बलवीर सिंह, कोतवाली इंस्पेक्टर हरीश वर्धन सिंह, गजरौला इंस्पेक्टर आशुतोष रघुबंशी और जहानाबाद के थाना प्रभारी निरीक्षक प्रभाष चंद्र पुलिस फोर्स के साथ घटना स्थल पर पहुंच गए। गोताखोर और पीएसी के जवान नदी में दोनों किशोरों की तलाश कर रहे हैं। प्रशासन ने एसएसबी की टीम से भी संपर्क किया है।  

किन्नर ने की बचाने की कोशिश : देवहा नदी में पांच- छह किशोर नहा रहे थे। जिसमें दो किशोर गहरे पानी में चले गए। जिससे वे डूबने लगे। साथियों ने शोर मचाया तो किन्नर बबलू किशोरों को बचने के लिए नदी में कूद गया। रूस्तम ने बताया कि बबलू द्वारा पानी में फेंका गया तहमद एक किशोर ने पकड़ लिया था लेकिन पानी के तेज बहाव की वजह से उसके हाथ से छूट गया। साथ ही एक युवक मछली पकड़ रहा था उसने भी किशोरों को बचाने की कोशिश की पर सफल नहीं हो पाया। 

सीओ सिटी सुनील दत्‍त ने बताया कि देवहा नदी मे दो किशोर मंगलवार को नहाते समय गहरे पानी में डूब गए हैं। गोताखोर नदी में दोनों की तलाश कर रहे हैं। एसएसबी की टीम से भी संपर्क किया गया है। 

Edited By: Vivek Bajpai