जेएनएन, बरेली : ड्यूटी तो पुलिस व प्रशासनिक टीम की थी मगर एक छात्र ने अपनी हिस्से की जिम्मेदारी निभाने की कोशिश की। पराली जलती देखी तो ट्वीट कर अफसरों को जानकारी दे दी। मगर उसकी यह जागरुकता इंस्पेक्टर को अखर गई। फोन लगाकर उस पर बरस पड़े। गालियां दीं, धमकी दी कि गैंगस्टर लगा दूंगा। पुलिसिया रौब से सहमा छात्र तुरंत पुलिस चौकी पहुंचा और माफी मांग ली। हालांकि पूरी बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ जिसका संज्ञान लेते हुए एसएसपी ने जांच बैठा दी है।

Tweet की शिकायत

शीशगढ़ में रहने वाले इरशाद एलएलबी प्रथम वर्ष का छात्र है। वह पैर से दिव्यांग भी है। रविवार को उनके घर के पड़ोस वाले खेत में पराली में आग लगा दी गई तो उन्होंने इसकी शिकायत क्षेत्रीय लेखपाल से की तो उन्होंने जांच की बात कहकर टाल दिया। इसके चौकी इंचार्ज मनोज कुमार से कहा तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। जिसके बाद इरशाद ने एडीजी अविनाश चंद्र और उप्र पुलिस के ट्वीटर हैंडल पर शिकायत पोस्ट कर दी। कुछ ही देर में अधिकारियों ने संज्ञान लेकर इंस्पेक्टर शीशगढ़ सुरेंद्र सिंह पचौरी को जांच करने के आदेश दिए। इतने पर इंस्पेक्टर का पारा चढ़ गया। उन्होंने इरशाद को फोन लगाकर पूछा कि मुझसे पूछे बिना ट्वीट कैसे किया।

ठीक से सिखा दूंगा LLB

इंस्पेक्टर ने धमकी दी कि गैंगस्टर दूंगा। एलएलबी ठीक से सिखा दूंगा। सहमे इरशाद ने फोन पर ही मांगी मांगने लगे मगर इंस्पेक्टर हड़काते रहे, गाली दी। कहा कि तुरंत चौकी पहुंचकर इंचार्ज से बात कराओ। इरशाद तुरंत पुलिस चौकी पहुंचे और इंचार्ज मनोज कुमार से भी माफी मांगने लगे। उनका कहना है कि चौकी इंचार्ज ने ट्वीटर पर की गई शिकायत को डिलीट करा दिया। इसके बाद दो घंटे वहीं बैठाए रखा।

Not Reachable हुआ मोबाइल

पुलिस के व्यवहार से नाराज इरशाद ने इंस्पेक्टर के बीच हुई बातचीत के बारे में अधिकारियों को बताया। दो ऑडियो वायरल कर दिए। जानकारी हुई तो इंस्पेक्टर ने जिस खेत में पराली जलाई गई, उसके मालिक को बुलाकर तुरंत जुताई करा दी ताकि पराली जलाने का सुबूत न रहे। घटनाक्रम के बाद से इंस्पेक्टर का मोबाइल नंबर नॉट रीचेबल है।

मालिक से FIR दर्ज कराने की आशंका

इरशाद ने आशंका जताई कि इंस्पेक्टर खेत मालिक से मिली भगत कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करा सकते हैं। सोमवार को इस बाबत एसएसपी शैलेश पांडेय से शिकायत करेंगे।

एसएसपी ने सीओ काे सौंपी पूरे मामले की जांच

एसएसपी शैलेश पांडेय ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। ऑडियो सुनने के बाद इसकी जांच सीओ को सौंपी गई है। हालांकि युवक की पहले भी शिकायतें आ चुकी थीं। जांच के बाद जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके अनुसार कार्रवाई की जाएगी। 

इंस्पेक्टर और छात्र की बीच ये हुई बातचीत

इंस्पेक्टर : इरशाद बोल रहे हो। मैं इंस्पेक्टर शीशगढ़ बोल रहा हूं। तुम्हीं ने ट्वीट किया था।

छात्र: जी-जी सर, ये पराली जला रहे थे। इसलिए मैंने डाल दिया ।

इंस्पेक्टर : अरे तुम्हारा दिमाग खराब है क्या। मैं तुम्हारा दिमाग ठीक कर दूंगा। तुमने लिखकर तहरीर क्यों नहीं दी। यह सब असली है ना।

छात्र: हां सर, सब असली है। मेरे घर के पास का ही है।

इंस्पेक्टर : लिखकर दीजिए।

छात्र: सर मैंने डाल दी थी ना ट्वीटर पर। गलती हो गई। अब नहीं डालेंगे।

इंस्पेक्टर: तुझ जैसे वकील जाने कितने घूमते हैं।

छात्र: जी सर मैंने इसलिए डाल दी थी कि सुप्रीम कोर्ट के आर्डर हैं। अब नहीं डालेंगे सर।

इंस्पेक्टर : कहा है ये, तुम भयानक अफवाह फैलाते हो।

छात्र: नहीं सर ऐसा है, अगर कोई गलती हुई है तो माफ करो।

इंस्पेक्टर : नहीं नहीं, आपने कैसे ट्वीट कर दिया मेरी इजाजत के बगैर

छात्र: जी सर मुङो पता नहीं था कि ट्वीट के लिए इजाजत लेनी पड़ती है ।

इंस्पेक्टर: चौकी पहुंचो। चौकी पहुंचो अभी। नहीं तो वहीं से गाड़ी में डलवाकर लाऊंगा। तुमको कर दूंगा फिट।

छात्र: नहीं सर, आपकी बात सही ।

इंस्पेक्टर : आप चौकी पहुचें या फिर गाड़ी में डलवाकर लाऊं अभी। तुम्हारी वकालत ठीक करूं क्या।

छात्र: अंकल मुझसे गलती हो गई।

इंस्पेक्टर: तूने अफवाह फैला दी पूरे प्रदेश में।

छात्र : अंकल में आपका बेटा हूं।

इंस्पेक्टर: नहीं तुम बलवाई हो।

छात्र : झूठ नहीं है, हकीकत है, आप इंवेस्टिगेशन करवा लो

इंस्पेक्टर : तुम्हे सजा मिलेगी, दस वर्ष के लिए। तुम अंदर जाओगे, तुम पर एनएसए लगाऊंगा

इंस्पेक्टर : क्यों डाला तुमने, तुम पर गुंडा एक्ट लगेगा

छात्र: अब नहीं डालूंगा अंकल आगे

छात्र: अंकल मुझसे गलती हो गई, मैं आपका बेटा हूं

इंस्पेक्टर : हां तुम जैसे न जाने कितनों को एलएलबी करा आया।

छात्र : अंकल मैं दिव्यांग हूं

इंस्पेक्टर: तुम समझोगे नहीं

छात्र: अंकल मैं बरेली था

इंस्पेक्टर: मैं वहीं पकड़वा लूंगा

छात्र: अंकल, मैं आ रहा हूं

इंस्पेक्टर : हां ठीक है। 

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप