जेएनएन, बरेली : गोवंशीय मांस की तस्करी के लिए तस्कर नए-नए तरीके खोज रहे हैैं। अब लग्जरी गाडिय़ों पर सत्तारूढ़ भाजपा का झंडा लगाकर मांस एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जा रहे हैैं। ऐसी एक गाड़ी को पीलीभीत हाईवे पर रोकने का प्रयास किया तो भाग खड़ी हुई। रिठौरा चौकी पर बैरियर भी तोड़ दिया। बाद में पकड़े जाने के डर से चालक और उसमें सवार तस्कर गाड़ी को रामपुर की तरफ जाने वाले मार्ग पर विलयधाम के पास छोड़कर फरार हो गए। 

गुरुवार रात एक लग्जरी कार पीलीभीत से गोमांस लेकर बरेली की ओर जा रही थी। पीलीभीत हाईवे से गाड़ी गुजरी तो उपनिरीक्षक राकेश कुमार बाईपास पर गश्त कर रहे थे। जीप को चालक उग्रवीर सिंह चला रहे थे। तेजी से जाती गाड़ी को देखकर पुलिस के चालक को शक हुआ।

बैरिकेटिंग करने पर भी नहीं रुके

उन्होंने वाहन का पीछा किया। पुलिस की जीप को पीछे आते देख तस्करों ने गाड़ी की रफ्तार बढ़ा दी। इसकी सूचना कंट्रोल रूम को दी गई। तब कंट्रोल रूम के आदेश पर हाफिजगंज पुलिस ने रिठौरा चौकी पर बैरियर लगाकर गाड़ी को रोकने की कोशिश की। तस्करों ने दुस्साहस दिखाते हुए बैरियर को तोड़ दिया।

अंधेरे का फायदा उठाकर हुए फरार

नवाबगंज और हाफिजगंज पुलिस तस्करों का पीछा करती रही। तस्करों ने खुद को घिरता देख विलयधाम बाईपास पर सैदपुर गांव के समीप गाड़ी को छोड़ दिया और अंधेरे का फायदा उठाकर भाग खड़े हुए। पुलिस ने गाड़ी को कब्जे में लिया।

गाड़ी के बारे में जुटाई जा रही डिटेल

शीशा तोड़कर उसे चेक किया गया तो करीब पांच कुंतल गोमांस बरामद हुआ। घटना की रिपोर्ट एसआइ सनी चौधरी की ओर से अज्ञात के खिलाफ  थाना हाफिजगंज में दर्ज कराई गई। है। गाड़ी का पता करने की कोशिश की जा रही है कि उसका असल मालिक कौन है? माना जा रही है कि गाड़ी चोरी की हो सकती है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Pandey