बरेली, जेएनएन : सुभाषनगर रामलीला में इस बार संगीतमय रामायण पाठ का आयोजन किया गया था। रविवार को दशहरे पर रावण के पुतले पर जैसे ही श्रीराम-लक्ष्मण के स्वरूप में कलाकारों ने तीर चलाया, अहंकारी रावण ढेर हो गया, लेकिन थोड़ी ही देर में आग बुझ गई। तब दोबारा हनुमान के स्वरूप ने ने रावण के पुतले में आग लगाई।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस