जासं, बरेली: महंगे मोबाइल और चश्मों का शौक ऐसा कि देखते ही दिल मचल जाता। साथ में रेस्टोरेंट जाने का शौक। इन आदतों ने चार युवकों को बाइक चोर बना दिया। बाइक चोरी करते-करते चारों एक-दूसरे के गहरे मित्र भी बन गए। बाइक चोरी में दाल न गलती तो उस वक्त मोबाइल लूट को भी अंजाम देने लगे।

बारादरी पुलिस ने चार आरोपितों इज्जतनगर के मठ लक्ष्मीपुर निवासी नरेन्द्र, शुभम, मोहित व बसंत बिहार फेस-2 निवासी प्रियांशु को चोरी की पांच बाइकों, आठ ब्रांडेड मोबाइल फोन व तमंचे संग गिरफ्तार कर लिया।

बारादरी पुलिस के मुताबिक, मुखबिर की सूचना पर संजय नगर पेट्रोल पंप के पास चारों को रोका गया। आरोपितों ने भागने की कोशिश की लेकिन, धर लिए गए। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि चारों लंबे समय से साथ में रह रहे हैं। शौक पूरा करने के लिए बाइक चोरी करनी शुरू की। इसके बाद मोबाइल लूट की वारदात को भी अंजाम देने लगे। आरोपितों में नरेंद्र गैंग का सरगना है। उसका कहना था कि वह चश्मे और महंगे मोबाइलों के शौकीन हैैं। यही नहीं अच्छे रेस्टोरेंट में खाना खाने के लिए भी जाते हैैं। एकाध साथी प्रेमिका को भी महंगी गिफ्ट देते थे। पुलिस की जानकारी में सामने आया कि वह एक चोरी में पकड़े जाते तो जमानत के बाद दोबारा फिर यही शुरू कर देते थे। नरेंद्र के विरुद्ध 11, शुभम के विरुद्ध छह, मोहित व प्रियांशु के विरुद्ध चार-चार मुकदमे दर्ज हैं। पुलिस अब उनसे बाइक चोरी के तरीके के बारे में भी जानकारी कर रही है। अक्सर वह महंगी बाइक ही उठाना पसंद करते थे।

Edited By: Ravi Mishra