बरेली, जेएनएन। Bareilly Millionaire Smuggler : किराए पर बाग लेने वाला तस्कर तस्करी की कमाई से करोड़ों के साम्राज्य का मालिक बन बैठा। डेढ दशक से तस्करी में लिप्त तस्कर नुसरत खान ने मकान, प्लाट के साथ हाईवे की बेशकीमती जमीने खरीदी। दिल्ली एनसीबी टीम के हत्थे चढे तस्कर की शुरुआती जांच में करोड़ों की संपत्ति सामने आने से टीम हैरान है।

आंवला के पक्का कटरा मुहल्ले का रहने वाला नुसरत खान पांच अक्टूबर को दिल्ली एनसीबी टीम के हत्थे चढ़ा था। उसने बिशारतगंज के रहने वाले कासिम अली को सरगना बताया था। पूछताछ में कबूला था कि विशारतगंज के कासिम से ही वह स्मैक लाकर दिल्ली में सप्लाई करता था। एनसीबी की टीम कासिम की तलाश के लिए बिशारतगंज के वार्ड सात, नौ व बलेई रोड पर दबिश दी लेकिन, वह हत्थे नहीं चढ़ा। इधर, पकड़े गए तस्कर नुसरत खान की कुंडली खंगाली जानी शुरू हुई तो पता चला कि बीते डेढ़ दशक से वह स्मैक तस्करी के काम में लिप्त है।

एनडीपीएस के एक मुकदमे में उसके जेल में एक साल सजा काटने की बात भी सामने आई। पता चला कि क्षेत्र में अचानक से संपत्ति बढ़ने की उसकी चर्चा पर आम हुई तो उसने बदायूं के वजीरगंज के गांव हथरा स्थित ससुराल में हाईवे पर खेती की करोड़ों की बेशकीमती जमीन खरीदी। शुरुआती जांच में करोड़ों की प्रापर्टी सामने आने के बाद पुलिस के रडार पर अब नुसरत का पूरा कुनबा है। पूरा कुबना दिल्ली एनसीबी के साथ लोकल पुलिस के निशाने पर है।

किरकिरी पर 40 ग्राम स्मैक के साथ तस्कर को पकड़ थपाथपाई पीठ

दिल्ली एनसीबी टीम की दस्तक के बाद बिशारतगंज पुलिस पर सवाल उठे तो तुरंत ही वह एक्शन में आ गई। किरकिरी से बचने के लिए पुलिस ने वार्ड 12 के रहने वाले तस्कर जीशान को गिरफ्तार कर लिया। बताया कि उसके पास से 40 ग्राम स्मैक बरामद की गई है। उसे भी जेल भेज दिया। 

Edited By: Ravi Mishra