जागरण संवाददाता, बरेली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र कार्यकारिणी सदस्य कृष्ण चंद्र ने मंगलवार को कहा कि जो लोग बिना खड्ग-ढाल के आजादी मिलने की बात कहते हैं, वे झूठे हैं। आजादी पाने के लिए लहू की नदी पार करनी पड़ी थी। असंख्य बलिदान हुए, तब देश स्वतंत्र हो सका। वह भोजीपुरा के सरदार वल्लभ भाई पटेल कालेज में संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हम सभी आजादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं, जिसके माध्यम से इतिहास को जागृत करने का अवसर मिला है। उन्होंने वीर सावरकर पर सवाल खड़े करने वालों के लिए कहा, ऐसे लोगों को त्याग व वीरता की जानकारी नहीं है। स्वतंत्रता के बाद उन लोगों के हाथ में सत्ता आ गई थी, जोकि उस लायक व हकदार नहीं। पुरानी सरकारों ने देश की युवा पीढ़ी को गलत इतिहास पढ़ाकर संस्कृति विकृत करने का प्रयास किया। कम्युनिस्ट सोच ने झूठ फैलाया था। मुख्य अतिथि राजश्री कालेज के चेयरमैन राजेंद्र अग्रवाल ने कहा कि हिदू जातियों में न बंटे। एकजुट होकर राष्ट्र सेवा में जुटे रहें। वर्ग कार्यवाह अतुल खंडेलवाल ने कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी दी। वर्ग अधिकारी शाहजहांपुर के विभाग संघ चालक ओमप्रकाश भी उपस्थित रहे। व्यवस्था प्रमुख सत्येंद्र यादव ने आभार व्यक्त किया।

स्वयं सेवकों का प्रशिक्षण पूरा

इससे पहले 20 दिन चले संघ शिक्षा वर्ग में बरेली व शाहजहांपुर विभाग के 105 स्वयंसेवकों को प्रशिक्षण दिया गया। मंगलवार को उन्होंने सूर्य नमस्कार एवं शारीरिक कौशल का प्रदर्शन किया। उनके बौद्धिक, चारित्रिक विकास पर बल दिया गया। समापन समारोह में विभाग संघ चालक केसी गुप्ता, सह प्रांत प्रचारक धर्मेद्र, प्रांत बौद्धिक प्रमुख देवराज, प्रांत सेवा प्रमुख मदन, सह प्रांत सेवा प्रमुख उमेश, विभाग प्रचारक ओमवीर, महानगर प्रचारक विक्रांत और अनुषांगिक संगठनों के कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Edited By: Jagran