बरेली, जेएनएन : वित्त मंत्री ने पुल निर्माण से जुड़े अफसरों को आवास बुलाकर देरी के लिए नाराजगी जताई। यह कहते हुए कि पब्लिक परेशान हो रही है, रात में भी पुलों के निर्माण का काम तेजी से किया जाए। खासतौर पर मंत्री ने चौपुला पुल पर पुलिस लाइंस की तरफ सर्विस लेन बनाने पर जोर दिया। किला पर दूसरे पुल का डिजायन मांगते हुए पुराने पुल की मरम्मत तत्काल प्रभाव से करने के लिए कहा।

अफसरों से मंत्री ने कहा कि चौपुला पुल पर नीली-पीली कोठी और वन विभाग की जमीन के विवाद में न उलझे। पुलिस लाइंस की तरफ पर्याप्त जमीन है। सर्विस लेन बनाएं। दिन में ट्रैफिक का लोड बढ़ने से दिक्कत आ रही है। रात में भी काम कराएं। उन्होंने कहा कि हम अपना प्रोजेक्ट किसी के चक्कर में लेट नहीं करेंगे। किला पुल के ऊपर साइड वाली पटरी रोड से मिल गई है। कभी भी कोई ट्रक या अन्य वाहन नीचे गिर सकता है। क्योंकि पता ही नहीं लगता है कि यहां डिवाइडर है। रेलिंग से सड़क को मिला दिया है। इसमें तत्काल सुधार करें। सड़क की हालत भी सुधारी जाए।

दूसरे पुल का एस्टीमेट व ड्राइंग को फाइनल कर लखनऊ भेजें, ताकि दूसरे प्रोजेक्ट पर भी तत्काल काम शुरू कराया जा सके। पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर से कहा की बीसलपुर के फ्लाईओवर से संबंधित फाइल जिसे सेंट्रल गर्वमेंट को देना है, उसे पूरा करके दें। जिससे जल्दी बनाया जा सके। भोजीपुरा की तरफ से नीचे उतरते हुए लोग रांग साइड चलते है और यू टर्न लेते है। उसे डीएम के साथ बैठक कर तुरंत दूर करें। कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। पीडब्ल्यूडी की सड़कें है जैसे बीसलपुर, फतेहगंज पूर्वी की सड़कों को कार्य जल्दी पूरा कराया जाए।

 

जरा सी भूल पड़ेगी हजारों की

किला पुल के बायीं तरफ की सर्विस लेन बदतर हाल में है। यहां सड़क में गढ्ढे नहीं बल्कि गढ्ढों में सड़क की स्थिति हो गई है। गढ्ढे भी इतने गहरे और बड़े हैं कि कार, ऑटो या स्कूटी का पूरा पहिया इसमें घुस जाता है। पिछले दिनों तो पुलिस ने बेरीकेडिंग लगाकर यहां से आवागमन बंद कर दिया, लेकिन कांवड़ यात्र शुरू होने के चलते यह बेरीकेडिंग हटा दी है, जिससे कई वाहन चालक सड़क पर सीधे आगे बढ़ जाते हैं। ऐसा ही वाकया शनिवार को देखने को मिला, जब एक कार चालक सीधे निकला, तो धड़ाम की आवाज के साथ पूरी कार गड्ढे में जाकर बंद हुई। चालक बाहर निकला और पहले बोनट आदि देखा। कहीं नुकसान तो नहीं हुआ। फिर लोगों की मदद से अपनी कार बाहर निकाली। 

पुल जनता की राहत के लिए बनवाए जा रहे हैं। निर्माण में देरी से लोगों को दिक्कत हो रही है। उसे दूर करने के लिए अफसरों को बुलाकर निर्देश दिए गए हैं।- राजेश अग्रवाल, वित्त मंत्री 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस