जेएनएन, बरेली : टेरर फंडिंग के आरोपित फहीम और सिराजुद्दीन की सात दिन की रिमांड एटीएस को मिल गई। दोनों से नेपाली खातों में आने वाली रकम, आतंकी कनेक्शन के बाबत पूछताछ की जाएगी।टेरर फंडिंग के आरोप में परतापुर चौधरी गांव फहीम और सिराजुद्दीन को गुरुवार शाम एटीएस ने इज्जतनगर थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। जबकि इनके साथी सदाकत ने भी कोर्ट में सरेंडर की अर्जी डाल रखी है। शुक्रवार को फहीम और सिराजुद्दीन को लखीमपुर न्यायालय में पेश किया गया था। यहां एटीएस की ओर से रिमांड की अर्जी दी गई थी। इस पर शनिवार को सुनवाई करते हुए न्यायालय ने दोनों की सात दिन की रिमांड की स्वीकृति दे दी है। एटीएस दोनों से सात बिंदुओं सहित अन्य कई बिंदुओं पर पूछताछ करेगी। एटीएस दोनों को साथ ले गई है।

 इन बिंदुओं पर होगी पूछताछ

  •  नेपाली खातों में पैसा कहां से और कैसे आता है।
  •  पैसा आने के श्रोत क्या है।
  •  मुमताज के नेपाली लिंक कौन कौन हैं।
  •  उसके अन्य सहयोगी कौन हैं।
  •  सदाकत द्वारा यह पैसा किन किन लोगों को दिया गया है।                                                                     
  •  इस पैसे से किस प्रकार की आतंकवादी गतिविधियां की गई हैं।
  •  इससे पूर्व किस किस को आतंकवाद संचालन के लिए पैसा दिया गया।

  ...एटीएस मान चुकी आतंकी कनेक्शन

एटीएस जिन बिंदुओं पर पूछताछ की बात कह रही है, उनमें आतंकी कनेक्शन भी शामिल है। इससे साफ है कि एटीएस यह पुख्ता कर चुकी है कि टेरर फंडिंग के आरोपितों के आतंकी कनेक्शन हैं। यह लोग आतंकी गतिविधियां करने के लिए पैसों को इधर उधर करते थे।

बरेली से गिरफ्तार दोनों आरोपितों की रिमांड मिल गई है। दोनों से नेपाली और आतंकी लिंक के बारे में जानने का प्रयास होगा। अन्य कई बिंदुओं पर भी पूछताछ की जाएगी।- डीके ठाकुर, एडीजी एटीएस  

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप