बरेली, जेएनएन : मझगवां गांव में एक घर में बकरे की कुर्बानी को लेकर विवाद हो गया। एक समुदाय के लोगों ने इसे नई परंपरा बताकर पुलिस से शिकायत की। मौके पर पहुंची पुलिस ने कुर्बानी का मांस बरामद कर लिया और कुर्बानी करने वाले को पकड़कर थाने ले गई। जानकारी पर कुर्बानी करने वाले समुदाय के लोग भारी संख्या में थाने पहुंच गए। दोनों समुदाय के लोग आमने-सामने आ गए तो स्थिति गंभीर हो गई। माहौल की नजाकत देख पुलिस ने लाठी फटकार कर भीड़ को खदेड़ा। बाद में दोनों पक्षों में समझौता करा दिया गया।

मझगवां गांव के रईस अहमद व उनके पिता बकरीद के दूसरे दिन मंगलवार को घर में कसाई बुलाकर बकरे की कुर्बानी कर रहे थे। उनके मिलने वाले भी वहां मौजूद थे। तभी एक समुदाय के लोगों ने इस पर आपत्ति जताई। उनका कहना था पहले कभी यहां कुर्बानी नहीं हुई। दोनों समुदाय के लोग थाने पर जुटने लगे तो स्थिति तनावपूर्ण हो गई। सूचना पर एसडीएम विशु राजा मौके पर पहुंचे। उन्होंने लोगों को समझाने का प्रयास किया। बात न बनने पर सीओ रामप्रकाश पूरे सर्किल की फोर्स व पीएसी को लेकर मौके पर पहुंचे।

पीएसी ने थाने का घेराव कर रही भीड़ को खदेड़ा। एसडीएम, सीओ, चेयरमैन सूरज पाल मौर्य, ग्राम प्रधान दामोदर यादव की मौजूदगी में दोनों समुदाय के लोगों के बीच लिखित समझौता किया गया। जिसमें तय हुआ कि सार्वजानिक स्थान पर किसी भी जानवर की कुर्बानी या वध नहीं होगा। पर्व के अवसर पर अपने घर में बिना भीड़ जुटाए कुर्बानी कर सकेंगे। पुलिस ने कुर्बानी का मीट सौंपकर रईस अहमद व उसके पिता नन्हे को छोड़ दिया। तनाव को देखते हुए गांव में पीएसी तैनात कर दी गई है।

विधायक पप्पू भरतौल से की कार्रवाई की मांग
बिथरी विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल मझगवां ब्लॉक में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे तो एक समुदाय के लोग उनके पास गए। नई परंपरा की बात कहते हुए आरोपितों को जेल भिजवाने की मांग की। विधायक ने उन्हें आश्वासन दिया कि वह डीआइजी से कहकर समाधान कराएंगे।

मामला स्थानीय राजनीति से प्रेरित लगता है। पूरी स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। माहौल बिगाडऩे वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। -विशु राजा, एसडीएम

गांव में पीएसी लगा दी गई है। खुराफातियों को चिह्नित किया जा रहा है। शीघ्र कार्रवाई की जाएगी। -राम प्रकाश, सीओ आंवला

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप