जेएनएन, बरेली : किसानों से अधिग्रहण में खेल को लेकर कुख्यात विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी दफ्तर में एक और घपलेबाजी सामने आई है। काशीपुर-सितारगंज हाईवे की जमीन अधिग्रहण में गलत तरीके से ज्यादा मुआवजा बांट दिया। इसमें कर्मचारियों पर कार्रवाई के बाद अफसरों की गर्दन भी फंस रही है।

एनएच-74 के चौड़ीकरण प्रोजेक्ट में बहेड़ी के तीन गांवों के किसानों से जमीन ली गई थी। आरोप लगा कि खेल करके कृषि भूमि को व्यवसायिक दर्शा दिया गया। ऐसा अफसरों के इशारे पर अमीनों पर करने का आरोप लगा। शिकायत के बाद विशेष भूमि अध्याप्ति अधिकारी (एसएलओ) मदन कुमार ने जांच की तो आरोप की पुष्टि हुई।

डीएम के आदेश पर एक अमीन अनवर हुसैन कुरैशी को निलंबित किया। दूसरा अमीन सुरेंद्रपाल सिंह मुरादाबाद में तैनात है। उसके खिलाफ निलंबन की संस्तुति डीएम मुरादाबाद को की है। अधिग्रहण में तैनात अफसरों की भूमिका को लेकर सवाल खड़ा हुआ है। उनके खिलाफ शासन में शिकायत हुई है।

माना जा रहा है कि कर्मचारियों के बाद अफसरों पर भी कार्रवाई होगी। एलएलओ दफ्तर में गड़बड़ी का यह मामला नया नहीं है। कमिश्नर रणवीर प्रसाद ने वार्षिक निरीक्षण किया था तो गड़बड़ी पकड़ने के बाद बाबू को निलंबित कराया था।

 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस