अभिषेक पांडेय, बरेली : जिन हाथों को कल कानून-व्यवस्था और अपराध नियंत्रण की बागडोर संभालनी है, वही पुलिस में भर्ती के लिए जुगाड़ और जालसाजी में रंगे निकले। पुलिस लाइन में चल रही जोन के अभ्यर्थियों की भर्ती में कोई वजन ज्यादा दिखाने के लिए पीठ पर पत्थर बांध कर पहुंचा तो कोई हाइट टेस्ट पास करने को बालों में सूखी मेहंदी भरकर आया। शक होने पर जांच में खेल खुला। फजीहत तो हुई ही भर्ती से बाहर भी होना पड़ा। पुलिस भर्ती के लिए लिखित परीक्षा उत्तीण अभ्यर्थियों के मेडिकल, शारीरिक व प्रमाण पत्रों की जांच .. से शुरू हुई है। जिले की पुलिस लाइन में ही बरेली व मुरादाबाद रेंज के भी महिला व पुरुष अभ्यर्थियों की जांच की जा रही है। इस तरह के जुगाड़ और जालसाजी के अब तक कई दृश्य व मामले सामने आ चुके हैं।

नौ जिलों के लिए बने नौ पैनल                                                                                                        भर्ती में शामिल बरेली जोन के सभी नौ जिलों से आए अभ्यर्थियों के लिए नौ ही पैनल बनाए गए हैं। प्रत्येक पैनल में सीओ, एसडीएम, सीएमओ से नामित एक डॉक्टर, शिक्षा विभाग का एक अधिकारी और एक कंसल्टेंसी सर्विसेज का अधिकारी शामिल है। एडीजी अविनाश चंद्र नोडल और बरेली रेंज के डीआइजी राजेश पाण्डेय सहायक नोडल अफसर बनाए गए हैं।

अंगूठे फेल तो पैनल ने भेजा बोर्ड                                                                                                परीक्षण में कई अभ्यर्थी ऐसे भी निकल रहे, जिनके अंगूठे के मिलान नहीं हो रहे। पैनल ने ऐसे अभ्यर्थियों को भर्ती बोर्ड वापस लौटा दिया। अफसरों को आशंका है कि फर्जीवाड़ा हुआ है या फिर अंगूठे में ही कोई दिक्कत है। इसीलिए अभ्यर्थियों भर्ती बोर्ड दोबारा भेजा गया।

पीठ पर पत्थर बांधकर आई लड़की

बदायूं की एक महिला अभ्यर्थी का वजन मानक से 500 ग्राम कम था। परीक्षण के दौरान वजन बढ़ाने के लिए कपड़ों के अंदर पीठ पर पत्थर बांध लिए। जांच में पैनल को शक हुआ। महिला कांस्टेबल ने जांच की तब खेल खुल गया। अफसरों ने डांटकर हटा दिया। वही अभ्यर्थी बाहर से करीब डेढ़ दर्जन केले खाकर फिर आई। फिर भी वजन 200 ग्राम कम रह गया।

पांच परत में मेहंदी भर लगाया जूड़ा

पीलीभीत की महिला अभ्यर्थी ने तो जुगाड़ का नया पैमाना गढ़ दिया। लंबाई पांच सेंटीमीटर कम होने से मामला फंस रहा था। अभ्यर्थी ने सिर पर मेहंदी की एक-एक सेंटीमीटर की पांच परतें सुखाकर लगाई। फिर जूड़ा बांधकर माप को पहुंची। माप में स्केल रखने पर सिर से खट की आवाज आई। जूड़ा खोलकर जांच में पोल खुल गई।

कुल अभ्यर्थी : 800

भर्ती में शामिल जिले : 9

प्रतिदिन आ रहे अभ्यर्थी : 700-800

भर्ती शुरू हुई 27 नवंबर से

पुलिस लाइन में चल रहे मेडिकल व प्रपत्रों की जांच गहनता से की जा रही है। पास होने के लिए अभ्यर्थी खेल की कोशिश करते हैं लेकिन गहन जांच में पकड़े जा रहे हैं।

राजेश पाण्डेय, डीआइजी 

Posted By: Abhishek Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस