जागरण संवाददाता, बरेली: बरेली कालेज में बीते दिनों हुए उपद्रव में कार्रवाई की मांग को लेकर शिक्षक संघ व कर्मचारियों ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है। मंगलवार को सिटी मजिस्ट्रेट राजेश पांडेय व एसीएम प्रथम कुमार राजेश ने कालेज पहुंचकर कार्रवाई किए जाने का आश्वासन दिया था। इस पर शिक्षक संघ मानने को तैयार नहीं हुआ। बुधवार को बारादरी पुलिस ने मामले में दो आरोपितों निखिल व अनिकेत को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा इसकी जानकारी दिए जाने के बाद शिक्षक व कर्मचारी संघ ने हड़ताल वापस लेने का निर्णय लिया।

सोमवार को कर्मचारी की मौत होने के चलते बरेली कालेज बंद रहा। मंगलवार से उपद्रवियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर शिक्षक व कर्मचारियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी। हालांकि छात्र हित को ध्यान में रखते हुए बीएड विभाग में छात्रवृत्ति फार्म को जमा कराने की व्यवस्था की गई थी। छात्रवृत्ति फार्म जमा करने की अंतिम तारीख होने के चलते बुधवार को हजारों छात्रों ने महाविद्यालय पहुंचकर फार्म जमा किया। फार्म जमा करने के दौरान धक्का-मुक्की भी हुई। वहीं दूसरी ओर हड़ताल पर बैठे शिक्षक व कर्मचारियों से सिटी मजिस्ट्रेट व एसीएम प्रथम मिलने पहुंचे। सिटी मजिस्ट्रेट ने सेमिनार कक्ष में प्राचार्य समेत सभी संगठन पदाधिकारियों से वार्ता की। बताया कि दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अन्य चिह्नित अराजक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई जारी है। सिटी मजिस्ट्रेट ने आश्वस्त किया कि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होने दी जाएगी। कालेज में पुलिस-प्रशासन की पूरी व्यवस्था रहेगी। पुलिसिया कार्रवाई से संतुष्ट होकर शिक्षकों व कर्मचारियों ने हड़ताल समाप्त की। बरेली कालेज शिक्षक संघ के महामंत्री डा. वीपी सिंह ने बताया कि गुरुवार को महाविद्यालय में पठन-पाठन शुरू किया जाएगा।

Edited By: Jagran