बरेली, जेएनएन। तीन सौ बेड कोविड अस्पताल में कुछ महीने पहले सौर ऊर्जा के लिए सोलर-ट्री लगाए गए थे।अब इन सोलर ट्री का इस्तेमाल कोरोना संक्रमितों के वार्डों में बिजली देने के लिए किया जाएगा। 300 बेड कोविड अस्पताल प्रभारी डॉ. वागीश वैश्य ने मरीजों की सुविधा के लिए सोलर ट्री का कनेक्शन संक्रमितों के वार्ड में देने के निर्देश दिए हैं।स्मार्ट सिटी योजना के तहत कुछ महीने पहले जिले के कई सरकारी दफ्तरों में सोलर पैनल लगाए गए थे। क्योंकि ये पैनल देखने में पेड़ जैसे थे, इसलिए इन्हें सोलर ट्री नाम दिया गया। शुरू में इस पैनल से 300 बेड अस्पताल के प्रशासनिक भवन की बिजली आपूर्ति की तैयारी थी। लेकिन कोरोना संक्रमित मरीजों की बढ़ती संख्या देखते हुए अब इसका उपयोग इससे कोरोना संक्रमितों को और ज्यादा सुरक्षा मुहैया कराने में लगाया जाएगा। सोलर ट्री का कनेक्शन एल-2 वार्ड में होगा। जिससे आपात स्थिति में भी कोरोना संक्रमितों के लिए आवश्यक बिजली व्यवस्था रहे। कोरोना वार्ड में मेन लाइन और सोलर-ट्री से आने वाली लाइन, दोनों की सप्लाई होगी। जरूरत के मुताबिक लाइन एमसीवी से शिफ्ट की जाएगी।

पिछले महीने एचटी लाइन कटने से आठ घंटे गुल रही थी बिजली

पिछले महीने बियावानी कोठी से ईसाइयों की पुलिया तक सीवर लाइन के लिए खोदाई के दौरान हाईटेंशन लाइन कट गई थी। इसी लाइन से 300 बेड कोविड अस्पताल को बिजली आपूर्ति होती थी। लाइन दुरुस्त होने में करीब आठ घंटा लगा था। वहीं, अस्पताल का जेनरेटर भी स्टार्ट न हो पाने की वजह से पूरे भवन में बिजली नहीं थी। गनीमत थी कि उस दौरान महज चार कोरोना संक्रमित ही भर्ती थे। इनमें भी किसी की हालत गंभीर नहीं थी। इसी केस के मद्देनजर डॉ.वैश्य ने सोलर पैनल से कोरोना संक्रमितों के वार्ड में बिजली सप्लाई देने का फैसला लिया।300 बेड कोविड अस्पताल के प्रभारी डॉ.वागीश वैश्य ने बताया कि कोरोना संक्रमितों की सुविधा के लिए सोलर पैनल का कनेक्शन मरीजों के वार्ड से कराया जा रहा है। इसे जरूरत के हिसाब से स्विच किया जा सकेगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप