बरेली, जेएनएन। Sero Survey Report : इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) की टीम ने बीते दिनों जिले के गांवों समेत कुल दस इलाकों में सीरो सर्वे किया था। जांच के दौरान 500 सैंपल में से 335 के शरीर में एंटीबाडी मिली है। यानी, करीब 67 फीसद लोगों का शरीर कोरोना संक्रमण से लड़ने लायक पाया गया है। जिन लोगों को सर्वे में शामिल किया गया उनमें कोरोना से ग्रसित रहे लोगों के साथ वो लोग भी थे जो संक्रमण का शिकार नहीं हुए।

दो दिवसीय दौरे में लिए थे सैंपल

लोगों के शरीर में एंटीबाडी की जांच करने के लिए इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आइसीएमआर) की टीम चार जुलाई को बरेली पहुंची थी। टीम यहां दो दिवसीय दौरे के दौरान सीरो सर्वे के लिए अलग-अलग इलाकों में 18 सदस्यीय टीम पहुंची थी। इस दौरान 400 आम लोगों के ब्लड सैंपल लिए गए। वहीं, 100 स्वास्थ्यकर्मियों का भी सैंपल आइसीएमआर की टीम ने लिया था।

इन गांवों में हुआ था सर्विलांस 

गरीबपुरा, जाफरपुर, केसरपुर, रामपुर बुजुर्ग, हदौरिया, सनेकपुर, रमपुरा रतन, धौराटांडा, वार्ड-14, बरेली वार्ड नंबर 34, बरेली शहर- वार्ड 69। सभी गांवों में 40-40 लोगों के रैंडम ब्लड सैंपल लिए गए।

इसलिए होता है सीरो सर्वे 

कोरोना के केस कम होने के बाद कम्युनिटी में लोगों के ब्लड सैंपल लेकर स्टडी की जाती है। इससे यह पता लगाया जाता है कि उनके शरीर में संक्रमण के बाद कितनी एंटीबाडी बनी। अगर व्यक्ति संक्रमित नहीं भी हुआ है, तो उसके शरीर में संक्रमण से लड़ने के लिए कितनी एंटीबाडी मौजूद हैं, इसका भी सीरो सर्वे के जरिए पता चलता है।

चौथे चरण के सीरो सर्वे में बरेली जिले में 500 सैंपल लिए गए। इनमें 67 फीसद लोगों के शरीर में कोरोना संक्रमण के खिलाफ एंटीबाडी मिली है।- डा.गणेश मेहता, इंचार्ज, आइसीएमआर सर्वे टीम

Edited By: Ravi Mishra